Breaking News

सजधज कर सूर्यमंदिर पंचमन्दिर तैयार


रिपोर्ट चारोधाम मिश्रा दावथ (रोहतास) 

 प्रखंड क्षेत्र के सबसे प्राचीन सूर्यमंदिर पंचमन्दिर तैयार हो गया है।जय बजरंग छठ पूजा समिति के सदस्यों ने मंदिर व तालाब को भव्य ढंग से सजाया है। साथ ही व्रतियों व उनके सम्बन्धित लोगो को खाने पीने व रहने के लिए समुचित व्यवस्था किया है। पंचमन्दिर सूर्यमठ में छठ व्रत का अ‌र्ध्य अर्पण करने से मन वांछित फल की प्राप्ति होती है। इसी मान्यताओं को ले प्रखंड समेत दूरदराज इलाकों से छठव्रती अ‌र्घ्य अर्पण करने यहां आते हैं। मन्नतें पूरी होने पर लोग अस्ताचलगामी सूर्य की अराधना के बाद रात में बाजे गाजे के साथ घाट पर सत्यनारायण पूजा आदि करवाते हैं। जबकि उदयीमान सूर्य को अ‌र्घ्य अर्पण कर लोग अपने नन्हें मुन्नों का मुंडन संस्कार करवाते देखे जाते हैं। लोगों की मान्यता रही है कि जो कोई व्यक्ति उक्त घाट पर सच्चे मन से सूर्य की अराधना करते हैं, उनकी मनोकामना पूरी होती हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!