Breaking News

घर-घर दस्तक अभियान के तहत टीका कर्मी खेत से खलिहान तक पहुंच कर लोगों का हो रहा टीकाकरण


वैशाली: 
टीकाकरण के प्रति जागरूकता के बावजूद अभी भी गांव में काफी संख्या में लोग टीकाकरण से वंचित है। खासकर दूसरे डोज का टीकाकरण अधिकतर लोग नहीं करा पाए हैं। यह टीकाकर्मियों ने खेत से लेकर खलिहान और खेतों के मेड़ पर काम कर रहे किसानों मजदूरों को जाकर टीकाकरण किया।

महुआ में घर-घर दस्तक अभियान के तहत टीकाकरण के लिए 48 टीम गठित कर यह अभियान जोर-शोर से चलाया जा रहा है। टीम में एएनएम, ऑपरेटर को लगाया गया है। महा संक्रमण का खतरा फिर न पैदा हो इसके लिए महुआ अस्पताल प्रशासन द्वारा टीका कर्मियों को सख्त हिदायत दी गई है कि वे घर घर जाकर महासर्वे कर वैसे लोगों का टीकाकरण करेंगे जो अभी तक इससे वंचित है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए कर्मी लोगों के घर से लेकर उनके खेत खलिहान तक पहुंच रहे हैं और उनका टीकाकरण कर रहे हैं। हालांकि इस अभियान के तहत टीकाकरण में कर्मियों को कई परेशानियां आ रही है। उन्हें गांव में लोगों के तरह-तरह के सवालों से जूझना पड़ रहा है। कोई टीका देने के बाद ठीक-ठाक रहने की गारंटी मांगता है तो कोई यह कहता है कि इससे महासंक्रमण नहीं होगा इसका वह लिखित दें। इस तरह और कई सवालों के घेरे में गुजरनी पड़ रही हैं। हालांकि टीकाकर्मी लोगों को समझा-बुझाकर टीकाकरण कर रहे हैं। महुआ के कन्हौली विशनपरसी पंचायत अंतर्गत खत्रीचक में पहुंचे टीका कर्मी दीपक कुमार व कुमारी सुषमा ने बताया कि उन्हें क्षेत्र में कई समस्याओं से गुजरना पड़ता है। घर पर जाने के बाद लोग कहते हैं कि टीका नहीं लेंगे तो कुछ बहाना बनाते हैं। फिर भी लोगों को खेत से खलिहान तक पहुंचकर उनका टीकाकरण कर रहे हैं। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मनोरंजन कुमार सिंह, स्वास्थ्य प्रबंधक प्रकाश कुमार, बीसीएम आफताब आलम आदि इस अभियान की सफलता को लेकर सक्रिय है। बताया गया कि दूसरा डोज लेने से अधिकतर लोग हिचकते हैं। गांव में इस तरह की समस्या आ रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!