Breaking News

शिक्षा-साहित्य-रत्न से सम्मानित हुए प्रख्यात शिक्षाविद् डॉक्टर अमरेन्द्र


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

हाजीपुर(वैशाली)अंग्रेजी व हिन्दी के ख्याति लब्ध शिक्षाविद् एवं साहित्यकार प्रो. (डॉ.) अमरेन्द्र कुमार शिक्षा-साहित्य-रत्न सम्मान से किए गए सम्मानित। अंग्रेजी-हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार प्रो. अमरेन्द्र कुमार की दर्जनाधिक पुस्तकें हो चुकी हैं प्रकाशित, जिसमें 'सरोजिनी' (काव्य संग्रह)और 'क्रिएटिविटी (नोवेल) अतिशय चर्चित हुए। डॉ. अमरेंद्र के शोध -पत्र देश-विदेश के कई विश्वविद्यालयों में हो चुके हैं प्रस्तुत। हरिहर क्षेत्र स्मृति मंजूषा पुस्तक प्रकाशन समिति एवं प्रियदर्शी प्रकाशन ने 'सम्मान साहित्यकार के द्वार' कार्यक्रम के तहत डॉ. अमरेन्द्र के आवासीय परिसर में सम्मान समारोह आयोजित कर बहुभाषाविद् प्रो. अमरेन्द्र कुमार को यह सम्मान प्रदान किया गया।विदित हो कि कोरोना काल जैसी संकट की घड़ी में वरिष्ठ साहित्यकार-शिक्षाविद् घर के अन्दर रहने को मजबूर हैं, उनके घर पर सम्मान समारोह आयोजित कर परिवार और समाज के सामने उन्हें सम्मानित करने का यह एक अनोखा कार्यक्रम है।कार्यक्रम की अध्यक्षता सोनपुर के वरिष्ठ पत्रकार एवं सम्पादक विश्वनाथ सिंह ने की, जबकि संचालन अखिल भारतीय साहित्य परिषद् के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रसिद्ध योगगुरु डॉ. महेन्द्र प्रियदर्शी ने किया। बतौर मुख्य अतिथि सोनपुर के जाने-माने चिंतक एवं हरिहर क्षेत्र स्मृति मंजूषा पुस्तक प्रकाशन समिति के अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह, सचिव सह बैंक अधिकारी राजेन्द्र सिंह, संपादक विश्वनाथ सिंह, गीतकार सीताराम सिंह एवं प्रसिद्धि युवा साहित्यकार सह योगगुरु डॉ. महेन्द्र प्रियदर्शी ने अंग वस्त्र, पुष्प गुच्छ व पुस्तक प्रदान कर शब्दशिल्पी प्रो. (डॉ.) अमरेन्द्र कुमार को संयुक्त रुप से सम्मानित किया।सम्मानित करते हुए मुख्य अतिथि अनिल कुमार सिंह ने कहा कि प्रख्यात शिक्षाविद् व साहित्यकार डॉ. अमरेन्द्र कुमार  अंग्रेजी एवं हिन्दी साहित्य की विभूति हैं। अपनी साहित्य-साधना के बल पर अमरेन्द्र बाबू ने बिहार के साथ हरिहर क्षेत्र वासियों को गौरवान्वित किया है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सोनपुर पीएनबी बैंक अधिकारी सह प्रकाशन समिति के सचिव राजेन्द्र प्रसाद सिंह ने डॉ. अमरेन्द्र की अंग्रेजी-हिन्दी-साहित्य-यात्रा पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि डॉ. कुमार की दर्जनाधिक पुस्तकें प्रकाशित है, जिसमें आवर्तन, कच्चाबेला, सरोजिनी एवं क्रिएटिविटी नोवेल विशेष प्रसिद्ध है।जानेमाने युवा साहित्यकार एवं योगगुरु डॉ. महेन्द्र प्रियदर्शी ने कहा कि बहुभाषाविद् प्रो. (डॉ.) अमरेन्द्र कुमार ने अन्तर्राष्ट्रीय दमार विश्व विद्यालय, रिपब्लिक ऑफ यमन में कई वर्षो तक पीजी अंग्रेजी विषम पढाकर भारत, बिहार और वैशाली के ज्ञान का डंका बजाया है। योगगुरु डॉ. प्रियदर्शी ने कहा कि डॉ. कुमार लिखित नोवेल दमार यूनिवर्सिटी के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना गौरव की बात है।लोकप्रिय गीतकार सीताराम सिंह ने कहा कि डॉ. अमरेन्द्र कुमार शिक्षकों और युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं। व्यंगकार रेलवे अधिकारी अमरनाथ तिवारी ने कहा कि अमरेन्द्र बाबू जैसे शिखर शिक्षाविद् बिहार के लिए धरोहर हैं। युवा साहित्यकार मेदिनी कुमार मेनन ने डॉ. अमरेंद्र कुमार को रचनाधर्मिता का शिखर पुरुष कहा।अपने अध्यक्षीय संबोधन में पत्रकार विश्वनाथ सिंह ने कहा कि डॉ. अमरेन्द्र कुमार  ने जीवन पर्यंत भाषा-साहित्य की साधना कर हिन्दी एवं अंग्रेजी साहित्य को समृद्ध किया है।सरल व सहज स्वभाव के धनी डॉ. अमरेन्द्र कुमार अपने घर में सम्मानित होने पर भावुक हो उन्होंने कहा जीवन, शिक्षा और साहित्य ईश्वर का वरदान है।अभिज्ञान मण्डल के उपाध्यक्ष डॉ. अमरेन्द्र कुमार को शिक्षा-साहित्य-रत्न सम्मान से सम्मानित होने पर प्रसिद्ध कवि शालिग्राम सिंह अशांत, किरण मंडल के अध्यक्ष डॉ. दामोदर प्रसाद सिंह, डॉ. एनके श्रीवास्तव, डॉ. केके सिन्हा, डॉ. रंजना गुप्ता, अभिज्ञान मंडल के उपाध्यक्ष प्रो. रामजी राय, युवा साहित्यकार अनिमेष शालिन, प्रो. इन्दु कौशल, डॉ. केकी कृष्ण, अनुपमा सिंह, सुमन सिंह, मेधा सिंह, रीतिका सिंह, कुमार तेजस्वी, प्रियदर्शी प्रकाशन की प्रबंध निदेशिका मीनाली प्रियदर्शी,प्रीति सिंह, पूजा सिंह, प्रेमजीत सिंह पप्पू, विमल कुमार, कथाकार मुकेश कुमार शर्मा,शैलेंद्र कुमार, सिद्धि सेन, वेदवत्स,अखिल भारतीय शिक्षा मंच के अध्यक्ष आलोक आजाद,पत्रकार राजीव कुमार सिंह,युवा चिकित्सक डॉ. प्रियंका सिन्हा,शिक्षका निशा सिंह, डॉ. संजय विजित्वर, अंंजू सिंह, गुड्डन, संकल्प, डॉ. सरस्वती सिन्हा, माही, वैशाली, शौर्य, कौशल सिंह, अरुण सिंह, मीना सिंह, डॉ. पूजा चौधरी, डॉ. वीर मणि राय ने डॉ. अमरेंद्र कुमार को बधाई दी।अंत में धन्यवाद ज्ञापन शैलेन्द्र कुमार सिंह ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!