Breaking News

चुनाव कार्य में अवहेलना के जाने को लेकर महुआ प्रखंड प्रशासन द्वारा एक आंगनवाड़ी सेविका सहित 5 शिक्षकों से स्पष्टीकरण पूछा

स्पष्टीकरण का माकूल जवाब देने के समय तक उनके वेतन पर रोक लगा दी गई है।


महुआ
प्रखंड कार्यालय द्वारा जारी पत्र में बताया गया है कि प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में बीएलओ द्वारा ग्रुडा एप का अपलोड नहीं किया गया है। बताया गया है कि मतदान केंद्र संख्या 93 से लेकर 297 तक बीएलओ जिनका मतदान केंद्र संख्या 126, 159, 161, 232 और 265 बीएलओ द्वारा ग्रुडा ऐप का अपलोड नहीं किया गया है। जिससे मतदान में बाधा आ सकती है। निर्वाचन आयोग के कार्यों को गंभीरता से नहीं लिए जाने के कारण निर्वाचन आयोग के कार्य में अवहेलना बताते हुए जवाब तलब किया गया है। माकूल जवाब आने तक उनके वेतन पर रोक लगा दी गई है। 

प्रखंड कार्यालय के अनुसार आंगनवाड़ी सेविका मालती कुमारी के अलावा उत्क्रमित मध्य विद्यालय सलखनी उत्तरी के शिक्षक मनीष कुमार, प्राथमिक विद्यालय चंद्रपुरा टोला के बीएलओ तालेश्वर सहनी, उत्क्रमित मध्य विद्यालय शाहपुर के शिक्षक राजेश कुमार तथा उत्क्रमित मध्य विद्यालय मकसूदपुर ताज के बीएलओ अशर्फी दास से स्पष्टीकरण पूछते हुए उनके वेतन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। इन सभी से 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। इधर चुनाव कार्य में अवहेलना करने पर प्रखंड प्रशासन द्वारा पूछे गए शिक्षकों से स्पष्टीकरण पर इस तरह चुनाव कार्य में कोताही बरतने वाले शिक्षकों में हड़कंप मची है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!