Breaking News

नशे में धुत आपूर्ति पदाधिकारी गिरफ्तार


वैशाली जिला ब्यूरो एवं नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

सहदेई बुजुर्ग - बिहार के शराब बंदी कानून को धता बता  शराब के नशे में धुत रहने वाले वाले महनार के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी अरुण कुमार सिंह को सहदेई बुजुर्ग ओपी की पुलिस ने शराब के नशे में धुत हालत में गिरफ्तार किया है।सहदेई बुजुर्ग ओपी की पुलिस ने यह कार्रवाई महनार के अनुमंडलाधिकारी सुमित कुमार के निर्देश पर किया है।

एक और जहां राज्य के मुख्यमंत्री मंगलवार को राज्य में शराबबंदी के स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।वहीं दूसरी ओर उन्हीं के सरकार के एक अधिकारी खुलेआम शराब बंदी कानून का उल्लंघन कर शराब के नशे में धुत होकर निर्वाचन के काम में लगे हुए थे।जैसे ही पुलिस को इसकी सूचना मिली पुलिस ने मौके पर पहुंच कर तुरंत इन्हें गिरफ्तार कर लिया।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सहदेई बुजुर्ग ओपी अध्यक्ष सुनीता कुमारी ने महनार के अनुमंडलाधिकारी सुमित कुमार के निर्देश पर महनार के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी अरुण कुमार सिंह को नशे की हालत में सहदेई बुजुर्ग ओपी क्षेत्र के अंतर्गत गांधी उच्च विद्यालय सहदेई बुजुर्ग से गिरफ्तार कर लिया।बताया गया कि सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में 24 नवंबर को होने वाले मतदान कार्य के लिए सहदेई बुजुर्ग स्थित गांधी उच्च विद्यालय सहदेई बुजुर्ग में ईवीएम कमिश्निंग का कार्य चल रहा है।यहीं पर अरुण कुमार सिंह शराब के नशे में धुत होकर ड्यूटी पर पहुंचे थे।

ईवीएम कमिश्निंग में उनकी तैनाती की गई थी।जैसे ही पुलिस को अरुण कुमार सिंह के शराब के नशे में कार्यस्थल पर होने की जानकारी मिली।सहदेई बुजुर्ग ओपी अध्यक्ष सुनीता कुमारी दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर अरुण कुमार सिंह को गिरफ्तार कर थाने ले आई।थाना पर प्राथमिक जांच में ब्रेथ एनालाइजर से की गई।जिसमें ब्रेथ एनालाइजर के काउंटिंग 585 एमजीएच आया।इस संबंध में सहदेई बुजुर्ग ओपी अध्यक्ष सुनीता कुमारी ने बताया कि एसडीओ के आदेश पर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को शराब के नशे की हालत में गिरफ्तार किया गया है।उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में ब्रेथ एनालाइजर की काउंटिंग 585 एमजीएच आया है।कहा कि आगे की जांच के लिए अरुण कुमार सिंह को सदर अस्पताल हाजीपुर भेजा गया है।ओपी अध्यक्ष ने कहा कि जो कोई भी शराब बंदी कानून का उल्लंघन करेगा उसके विरूद्ध कठोर से कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।कानून सबके लिए एक समान है।चाहे वह कोई भी हो।किसी भी कीमत पर शराब बंदी कानून का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।सहदेई बुजुर्ग प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉक्टर मोहम्मद इस्माइल अंसारी ने बताया कि अरुण कुमार सिंह ईवीएम कमिश्निंग में ड्यूटी पर थे।वहीं से पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी की है।इस संबंध में महनार के एसडीओ सुमित कुमार ने बताया कि अरुण कुमार सिंह के द्वारा शराब पीने की लगातार शिकायत मिल रही थी।जिसकी जांच की चीज की गई थी।उन्होंने बताया कि सोमवार को भी गोपनीय में इससे संबंधित शिकायत मिली थी।रात में भी उनकी खोज की गई लेकिन वह नहीं मिले।मंगलवार को ईवीएम कमिश्निंग में उनकी ड्यूटी थी।जब इसकी जानकारी मिली तो पुलिस को भेजकर इसकी जांच कराई गई।जिसके बाद मौके से ही उन्हें शराब के नशे में गिरफ्तार किया गया है।

बताया गया कि अरुण कुमार सिंह पटना के इंद्रपुरी के रहने वाले हैं और उनके पिता का नाम चंद्रदीप सिंह है। बताया गया कि वह लगभग डेढ़ वर्ष से महनार में पदस्थापित थे।

दूसरी ओर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के शराब के नशे में गिरफ्तारी के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।इसकी खूब चर्चा हो रही है।खासकर ऐसे लोगों में जो इस अवैध शराब के धंधे से जुड़े हुए हैं।लोगों को अब यह डर सताने लगा है कि जब शराब पीने के आरोप में प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी की गिरफ्तारी हो सकती है तो फिर उनकी क्या विसात है।लेकिन इन सबों के बीच एक बड़ा सवाल यह भी है कि प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को आकर शराब की आपूर्ति हुई कहां से। जब पूरे राज्य में शराबबंदी कानून लागू है।ऐसे में शराब की उपलब्धता होना भी कानून और पूरी व्यवस्था के ऊपर के ऊपर सवाल खड़े करता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!