Breaking News

खाद भारत की और हरियाली नेपाल में

  • मैनाटांड़ इनरवा से खाद की तस्करी चरम पर, अधिकारी बेपरवाह


मैनाटांड़: 
प्रखंड मुख्यालय सहित सीमावर्ती इनरवा बाजार से खाद की तस्करी इनदिनों चरम पर है। तस्करी इस कदर हो रही है जैसे अधिकारियों को कुछ मालूम ही नहीं। वहीं  इनरवा में तो सीमा पर सीमा सशस्त्र बल की तैनाती हैं। फिर भी खाद की तस्करी परवान पर है।

 प्रखंड मुख्यालय एवं इनरवा के खाद दुकानदारों के द्वारा दिनभर मोटरसाइकिल से नेपाल ले जाने वाले खाद तस्खरों को खाद मुहैया कराया जाता है। कहीं कोई नियम का पालन नहीं। कहीं तो पोस मशीन और रसीद देने का प्रावधान नही। जिसका बेधड़क का दुकानदार फायदा उठाते हैं। कृषि विभाग के अधिकारी व कर्मियों एवं प्रखंड अनुश्रवण समिति के लापरवाही से मैनाटांड़ से खाद चरम पर है ।दिनभर मोटरसाइकिल से खाद तस्कर खाद को ले जाकर  इनरवा में स्टॉक करते हैं और समय रहते एसएसबी के रहने के बावजूद भी खाद के बोरियों को नेपाल भेज दिया जाता है। यह कहने में कोई अतिश्योक्ति नहीं होगा कि खाद भारत की और  हरियाली नेपाल में। सूत्रों के अनुसार दुकानदार अधिकारियों को मैनेज कर अपना काम करते हैं।जिससे कि कृषि विभाग के अधिकारी कोई कदम उठाने से परहेज करते हैं। ग्रामीणों को माने तो कृषि विभाग के अधिकारी देखते रहते हैं और तस्कर आराम से खाद को लेकर चले जाते हैं। खाद तस्करी को अगर नहीं रोका गया तो अभी प्रखंड क्षेत्र में रबि की बुआई शुरू नहीं हुई है।किसान धान के काटने के बाद दौनी करने में व्यस्त हैं।जब रबि फसलों की बुआई शुरू होगी तो खाद दुकानदार खाद नहीं होने की बात बता हाथ खड़ा कर लेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!