Breaking News

किसानों में जागरूकता की कमी से जलाये जा रहे हैं पराली, कृषि कर्मी लापरवाह


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

 मैनाटांड़: एक तरफ कृषि विभाग और जिला प्रशासन पराली नहीं जलाने को लेकर लगातार कृषि अधिकारियों और कर्मियों को निर्देश दे रही है। लेकिन मैनाटांड़ प्रखंड का हालात कुछ और ही है ।मैनाटांड़ इनरवा मुख्य पथ में नहर के पास पेट्रोल पंप से पश्चिम रमपुरवा गांव के संदेह में निधड़क पराली जलाई जा रही है। इसका सीधा मतलब यह है कि किसानों को कृषि कर्मियों के द्वारा जागरूक नहीं किया गया है। 

ताकि किसान समझे की पराली जलाने से पर्यावरण को नुकसान होने के साथ-साथ उर्वरा शक्ति को भी नुकसान पहुंच रहा है ।उल्लेखनीय है कि विगत महीने में पराली नहीं जलाने को लेकर प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में जागरूकता अभियान कृषि विभाग के द्वारा चलाया गया था। लेकिन उक्त जागरूकता अभियान मात्र कोरम पूरा किया गया ।जिससे कि किसानों को पराली जलाने से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी नहीं मिली। बहरहाल जो हो लेकिन जिस तरह खेतों में पराली जलाये जा रहे हैं। इससे कृषि विभाग का पराली नहीं जलाने का मिशन को मैनाटांड़ में धक्का लगता दिख रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!