Breaking News

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में यहां छूटभइयों की चांदी कट रही


वैशाली:
नामांकन से लेकर मतदान अवधि तक उन्हें चांदी ही चांदी है। इस समय जहां किसान परिवार के लोग चुनाव के बावजूद अपनी खेती बाड़ी और घर गृहस्थी में लगे हैं। वही छूटभैय कभी इस प्रत्याशी के खेमें में तो कभी उस प्रत्याशी के काफिले में देखे जा रहे हैं।

 इसके लिए उन्हें समय समय पर भोजन, नाश्ता का पैकेट के साथ पॉकेट खर्च भी मिल जा रहे हैं। यहां नामांकन के दौरान तो छूटभइयों की खूब चांदी कटी। एक प्रत्याशी के नामांकन के बाद दूसरे और तीसरे में भी वह पहुंचकर उनके जयकारे लगाते रहे। अब वह किसी प्रत्याशी के प्रचार रहे हैं तो किसी का हैंडबिल बांट रहे है। किसी के कार्यालय में जाकर नाश्ता कर रहे हैं तो किसी के यहां भोजन। इस कारण उनका पता ही नहीं चलता है कि वे आखिर किस खेमे में है। ऐसे लोगों को देख कर खुद मतदाता भी हैरत में पड़ जा रहे हैं। इस समय ऐसे लोगों की खूब चल बन रही है। ऐसे में उन्हें काम भी मिल जा रहा है। प्रत्याशियों को भी ऐसे लोगों की जरूरत है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!