Breaking News

सिंभावली शुगर मिल पर किसानों का बकाया 415 करोड़ रुपया


यूपी हापुड़ से विशू अग्रवाल की रिपोर्ट

 सिम्भावली शुगर मिल ने चालू सत्र के खरीदे गन्ने का 310 करोड़ रूपये का कोई भुगतान किसानों को नहीं किया है। जबकि मिल पर पिछले पिराई सत्र का 105 करोड़ रूपया भी बकाया है। यानि मिल पर किसानों का कुल 415 करोड़ रूपया बकाया है। भुगतान ना होने से परेशान किसान उधार रकम ब्याज पर लेकर खर्चा चला रहा है। 

भाकियू के राष्ट्रीय सचिव कुश्पाल आर्य का कहना है कि मिल किसानों के भुगतान की समस्या को अनदेखी कर रहा है। क्यांकि जिला प्रशासन द्वारा मिल के खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही नहीं कर रहा है। वहीं रालोद नेता प्रो0 अब्बास अली ने कहा कि प्रदेश व केन्द्र सरकार किसान विरोधी है। शीघ्र भुगतान ना होने पर चीनी मिल का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया जायेगा। प्रकरण पर सिम्भावली गन्ना समीति सचिव राकेश पटेल ने जानकारी करने पर बताया कि चीनी बिक्री का 85 प्रतिशत रकम किसानों के खाते में भेजी जाती है। 

इसके अलावा शासन द्वारा शुगर मिल को दी जाने वाली करीब 50 करोड़ रूपयेकी सब्सिडी मिलते ही उससे भी बकाया भुगतान दिया जायेगा। बतादें वर्ष 2021 में 8 नवंबर से पेराई सत्र चालू हुआ है। मिल द्वारा किसानों से 310 करोड़ का गन्ना खरीदा गया है। मिल ने 15 मार्च 2021 तक पिछले सत्र के गन्ने का भुगतान भी नहीं अदा किया है। वर्ष 2020-21 के पैराई का 105 करोड़ रूपया भी मिल पर बकाया है। भारतीय किसान संगठन के जिलाध्यक्ष ईश्वर त्यागी का कहना है कि मिल की लापरवाही किसानो को भारी पड रही है। एडीएम श्रद्धा शाण्डियाल ने बताया कि प्रशासन मिल पर किसानों के भुगतान को लगातार दवाब बना रहा है। शीघ्र ज्यादा से ज्यादा भुगतान करा समस्या का निस्तारण किया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!