Breaking News

बाबा झुमराज स्थान बटिया में उमड़ी भीड़, सोनो चकाई मुख्य मार्ग घंटों जाम


सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट

पुस महिने को अशुभ कहा जाता है , जिस कारण हमारे हिंदू धर्म के लोगों ने कोई भी धर्मा नुष्ठान को पुस महिने में करना नहीं चाहते । जमुई जिले के बटिया बाजार स्थित प्रसिद्ध बाबा झुमराज स्थान नामक एक मंदिर है , जिनकी महीमा इतनी शक्तिशाली है कि जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से यहां आकर मिन्नतें मांगती है बाबा उनकी मनोकामना अवश्य ही पुरी करते हैं । इसी कारण आये दिन बाबा मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है । बाबा मंदिर के एक पुजारी ने बताया कि बाबा मंदिर में प्रत्येक सप्ताह बुधवार , शुक्रवार एवं सोमवार को नियमित रूप से पुजा अर्चना एवं बकरे की बलि चढ़ाई जाती है । लेकिन आगामी चार दिनों के बाद प्रारंभ हो रही पुस महिने के कारण लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है । उन्होंने बताया की पुस मास को लोग अशुभ मास के रूप में मानते हैं जिस कारण श्रधालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है । ऐसा नहीं है कि पुस महिने में बाबा मंदिर बटिया में पुजा अर्चना करने एवं बकरे की बलि चढ़ाने पर किसी प्रकार की पाबंदी लगाई गई है , कमोबेश  श्रद्धालुओं का आवागमन लगी रहती है । दुसरी ओर यहां यह बताना भी जरूरी है कि पुस मास के प्रवेश होते ही बाबा मंदिर से सटे घने पहाड़ियां होने के कारण यहां शीत लहर का प्रकोप प्रारंभ हो जाती है , साथ ही बाबा मंदिर में पूजा अर्चना करने आने वाले श्रद्धालु मंदिर के समीप बहने वाली कपटी नदी में स्नान कर पवित्र होकर बाबा मंदिर के प्रांगण में प्रवेश करते हैं । लेकिन शीत लहरी का प्रकोप प्रारंभ होने के कारण कपटी नदी में बहने वाला पानी भी काफी ठंडक हो जाती है जिस कारण लोगों का आवागमन कम हो जाती है ।


 यहां बताते चलें कि बाबा मंदिर को धार्मिक न्यास बोर्ड पटना से जोड़ दिया गया है एवं इस मंदिर को सुचारू रूप से चलाने के मंदिर समिति का गठन कर दिया गया है , जिसकी अध्यक्षता माननीय अनुमंडल पदाधिकारी हैं , बावजूद इसके कमेटी की ओर से मंदिर मोड़ पर लगने वाली सड़क जाम से निजात दिलाने एवं श्रद्धालुओं की उचित सुविधा के लिए अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है । ज्ञात हो कि दुर दराज से आए श्रद्धालुओं द्वारा बकरे की बलि चढ़ाना , बच्चों का मुंडन कराना तथा वाहनों की पुजा कराना आदि विभिन्न पुजा अर्चना करने पर मोटी रकम की वसूली कमेटी के द्वारा की जा रही है , जिससे कमेटी को प्रत्येक पुजा के दौरान हजारों रुपए की आय हो रही है , इसके बाद भी श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाना चिंता का विषय है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!