Breaking News

हिंदी और उर्दू दो बोलियों की तहजीब का संगम है: डीएम।


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

जमूई जिला उर्दू कोषांग के सौजन्य से सोमवार को शुक्रदास भवन के प्रशाल में फरोग - ए - उर्दू कार्यशाला एवं मुशायरा का आयोजन किया गया। उर्दू निदेशालय के निर्देश पर आयोजित मुशायरा सह सेमिनार कार्यक्रम में नामदार शायरों एवं गजल गायकों ने अपनी शायरी और गजल से कार्यक्रम में चार चांद लगा दिया। निर्धारित कार्यक्रम उल्लास और उमंग के वातावरण में संपन्न हो गया। जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने दीप प्रज्वलित कर निर्धारित कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि हिंदी और उर्दू आपसी भाईचारा और दो बोलियों की तहजीब का संगम है। उर्दू हमारे राज्य की द्वितीय राजभाषा है। अनेकों सरकारी कामकाज उर्दू के माध्यम से किए जा रहे हैं। कई प्रकार के प्रमाण पत्र भी उर्दू में जारी किए जा रहे हैं। अनिवार्य रूप से उर्दू में सरकारी कार्यालयों में पदों का नाम अंकित भी किया गया है। उन्होंने कहा कि उर्दू हिंदी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है। श्री सिंह ने उर्दू का व्यापक स्तर पर प्रचार - प्रसार किए जाने पर बल देते हुए कार्यक्रम आयोजन के लिए आयोजकों को साधुवाद दिया।

डीडीसी आरिफ अहसन ने उर्दू को और समृद्ध किए जाने पर बल देते हुए कहा कि इसका ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जाना वांछित है। उन्होंने उर्दू को हिंदी की छोटी बहन बताते हुए कहा कि दोनों भाषा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। श्री अहसन ने मौके पर कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे शायरों का हौसला अफजाई किया।

कार्यक्रम को मो. मासूम रजा, मंजू कुमारी इसरत, अर्चना दिव्या आदि ने संबोधित किया और उर्दू के महत्व पर प्रकाश डाला।

  डी. एस. एम. कॉलेज झाझा के व्याख्याता डॉ. शाहिद अख्तर अंसारी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की जबकि आगत अतिथियों का इस्तकबाल जिला उर्दू भाषा कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी आर. के. दीपक ने परंपरागत तरीके से किया।जिलाधिकारी समेत अन्य उपस्थित अधिकारियों ने इस अवसर पर जिला उर्दूनामा जमुई 2021 - 22 नामक पुस्तक का विमोचन किया और इसे लाभकारी बताया। 

कार्यक्रम के दूसरे सत्र में मो. मासूम रजा, हशमत अली हशमत, अमानुल्लाह जखीरवी, मंजू कुमारी इसरत, अर्चना दिव्या आदि ने अपनी शायरी पेश की और इसे यादगार बनाया। कार्यक्रम का सफल संचालन इरशाद खान जखीरवी ने किया और उन्होंने ही धन्यवाद ज्ञापन कर इसके समाप्ति की घोषणा की। इस अवसर पर बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!