Breaking News

मुसलमानों के खिलाफ जनसंहार के आह्वान पर मोदी-योगी चुप क्यों: माले


बिक्रमगंज
(रोहतास)भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने सोमवार को तेंदुनी चौक पर मोदी का पुतला दहन किया । और साथ ही मार्च जुलूस निकाल कर  हिन्दूवादी नेता अति नरसिम्हा और प्रबोधा नन्द को गिरफ्तार करने की मांग की है । माले ने धर्म संसद आयुजित मूस्लिम विरोधी नफरत और उनका सफाया करने की निंदा की है ।उत्तराखण्ड में आयोजित धर्म संसद से मुस्लिम विरोधी नफरत और उनका सफाया कर देने के आह्वान की कड़ी निंदा की है । उन्होंने इस मसले पर मोदी सरकार की चुप्पी की भी कड़ी निंदा की और कहा कि इस मुस्लिम विरोधी अभियान का न केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में तीखी निंदा हो रही है । लेकिन मोदी-योगी सरकार चुपी साधकर दरअसल ऐसे नफरत भरे अभियान को बढ़ावा देने का काम कर रही है । यह देश के संविधान के खिलाफ है । मुसलमानों के खिलाफ खुलेआम नफरत भरी बातें करने वाले कट्टर हिन्दुत्ववादी नेता अति नरसिम्हानंद और प्रबोधानंद की तत्काल गिरफ्तारी होनी चाहिए ।जिन्होंने मुसलमानों के जनसंहार का आह्वान किया । इस धर्म संसद में दिए गए भाषण के वायरल वीडियो क्लिप में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा और हिन्दुओं को हथियार उठाने के लिए कहा जा रहा है । भाकपा-माले ने यह भी कहा कि उत्तरप्रदेश-उत्तराखंड के चुनाव को देखते हुए भाजपा के लोग ही इस प्रकार का उन्माद पैदा कर रहे हैं । इसके खिलाफ भाकपा-माले पूरे राज्य में प्रतिवाद करेगी । इस पुतला दहन में कृष्ण मेहता , अनुग्रह नारायण सिंह , असगर हुसैन , गुलाम अली , अशोक पासवान , कामता पासवान , उमेश राम , भरत राम , प्रमोद बर्मा , सुरेश राम , सुदर्शन पासवान सहित अन्य लोग उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!