Breaking News

सफीपुर पुलिस ने बिना जांच किए लगा दी फर्जी रिपोर्ट


उन्नाव से जिला ब्यूरो चीफ अवधेश कुमार की रिपोर्ट 

सफीपुर पुलिस का एक बड़ा कारनामा, बिना जांच किए लगा दी फर्जी रिपोर्ट,। सफीपुर का है, जहां पुनीत पाल पुत्र हरिशंकर पाल निवासी बलदेव खेड़ा बांगरमऊ उन्नाव, के है,। जो सफीपुर में एक प्राइवेट इंटर कॉलेज के शिक्षक हैं और राष्ट्रीय हिंदी दैनिक परिधि समाचार पत्र के पत्रकार भी हैं।, पीड़ित पत्रकार के अनुसार 21 जुलाई को वह साइबर ठगों के शिकार हो गए थे, जिसमें उनके खाते से ₹58000 निकल गए, उनका खाता सफीपुर के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में था, पीड़ित पत्रकार के अनुसार उनके पास ना ही कोई फ्रॉड फोन आया और ना ही कोई ओटीपी नंबर आया फिर भी उनके खाते से ₹58000 निकल गए जिसकी शिकायत उन्होंने कोतवाली सफीपुर में और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में की थी, उसके बाद सफीपुर कोतवाली में एफ आई आर भी दर्ज करवाई,, जिसकी जांच क्राइम स्पेक्टर राजा भैया को सौंपी गई, पीड़ित पत्रकार के खाते में अभी पैसा आया भी नहीं था कि जांचकर्ता ने पैसे आ गए हैं कहकर अपनी फर्जी रिपोर्ट लगाकर माननीय न्यायालय को प्रेषित कर दिया,। वही पीड़ित पत्रकार बार-बार बैंक और कोतवाली के चक्कर काटता रहा बैंक मैनेजर भी टालमटोल करके गुमराह करता रहा, जब पत्रकार ने अपना मामला उन्नाव पुलिस को ट्वीट किया तो पता चला कि सफीपुर पुलिस ने बैंक की रिपोर्ट के आधार पर फाइनल रिपोर्ट लगाकर मामला माननीय न्यायालय को प्रेषित कर दिया, बैंक मैनेजर सौरभ तिवारी से बात करने पर पता चला कि खाते में सिर्फ अभी शैडो बैलेंस आया है जिसका मतलब होता है कि ग्राहक को इतने पैसे वापस करना,किसी शैडो बैलेंस के आधार पर फाइनल रिपोर्ट नहीं लगाई जा सकती,लेकिन जांच कर्ता ने फाइनल रिपोर्ट लगा दी और अभी तक पैसे अकाउंट में आए नहीं और सफीपुर पुलिस ने फर्जी रिपोर्ट लगाकर मामले को रफा-दफा कर दिया अब सोचने वाली बात यह है कि यदि पत्रकार के साथ ऐसा हो सकता है तो आम जनमानस के साथ पुलिस प्रशासन क्या करता होगा।

आरबीआई के नियम के मुताबिक बैंक खाते से संबंधित कोई मामला बनता है तो उसका निपटारा 3 महीने के अंदर सुनिश्चित किया जाना होता है लेकिन लगभग 5 महीने होने वाले हैं अभी तक, ना ही पैसे वापस आए हैं और ना ही किसी कार्यवाही का पता चला, इसी कारण बैंक मैनेजर सौरभ तिवारी की लापरवाही साफ नजर आती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!