Breaking News

पंचायत समिति सदस्य ने अपने पति को अगवा किए जाने की शिकायत


वैशाली सहदेई बुजुर्ग संवाददाता नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

सहदेई बुजुर्ग/महनार - महनार अनुमंडल में गुरुवार को देसरी प्रखंड प्रमुख के निर्वाचन के अनुमंडल कार्यालय परिसर में एक पंचायत समिति सदस्य के द्वारा रोने और चित्कार करने के कारण बाद घंटों हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा।प्रमुख की समर्थक एक पंचायत समिति सदस्य ने अपने पति को अगवा किए जाने की शिकायत को लेकर घंटों अनुमंडल कार्यालय परिसर में ही जमी रही और रो-रो कर अपनी व्यथा लोगों को सुनाया।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार महनार अनुमंडल कार्यालय में गुरुवार को देसरी के प्रखंड प्रमुख एवं उप प्रमुख का निर्वाचन होना था।प्रमुख का निर्वाचन संपन्न होने के बाद जब सभी सदस्य अपने अपने गंतव्य की ओर जाने के लिए निकले तो इसी दौरान एक पंचायत समिति सदस्य सरिता कुमारी ने अपने पति को विपक्षी खेमे के द्वारा बंदी बना लेने की शिकायत करते हुए रोने लगी।उनको रोता हुआ देखकर वहां सभी पंचायत समिति के सदस्य एवं समर्थक रुक गए और आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।पंचायत समिति सदस्य सरिता कुमारी का आरोप था कि उनके पति विकास कुमार को विपक्षी खेमे के प्रमुख प्रत्याशी आनंद कुमार द्वारा अपने पक्ष में वोट देने के लिए दबाव बनाने के उद्देश्य से अपहरण कर बंदी बना लिया गया है।सरिता कुमारी का आरोप था कि 18 दिसंबर को यह घटना हुई और उसी दिन उन्होंने पुलिस से घटना की शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई आज तक नहीं की गई।सरिता कुमारी के अनुसार उनके ससुर जयचंद साह ने पुलिस को लिखित सूचना भी दी थी।सरिता कुमारी का कहना था कि वह महनार के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी और अनुमंडल पदाधिकारी से मिलकर इसको लेकर शिकायत करेगी।वह घंटों रोती रही जिस कारण प्रमुख के रूप में विजई निशु कुमारी एवं उप प्रमुख के रूप में विजय राजमणि देवी का जश्न फीका पड़ गया।नवनिर्वाचित प्रमुख एवं उप प्रमुख सरिता कुमारी को ढाढस बंधाते रहे। लगभग तीन घंटे तक यह सब अनुमंडल परिसर में होता रहा।बताया जाता है कि इसके बाद कुछ लोगों ने किसी प्रकार से उनके पति से संपर्क कर उनकी बात कराई जिसके बाद जाकर हालात नियंत्रण में आया और मामला शांत हो सका।वही इस संबंध में विपक्षी खेमे के प्रमुख प्रत्याशी आनंद कुमार ने कहा कि सरिता कुमारी का आरोप पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है।उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का कोई भी घटना नहीं हुई है।कहा कि केवल उन्हें बदनाम करने के उद्देश्य से इस प्रकार के आरोप लगाए जा रहे हैं। वही इस संबंध में चांदपुरा ओपी अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें इस संबंध में कोई लिखित शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।कहा कि अगर शिकायत की जाएगी तो कार्रवाई होगी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!