Breaking News

दो साल पूर्व सीएम के द्वारा लगाये गये फलदार वृक्ष का अता-पता नहीं, रखवाली करने की किसी ने जहमत नहीं उठायी


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

 मैनाटांड़: इसे विडंबना कहें या अधिकारियों व कर्मियों की हिमाकत की सूबे के मुखिया नीतीश कुमार के द्वारा वर्ष 2019 के 8 नवंबर को हाई स्कूल रमपुरवा मैनाटाड़ के खेल ग्राउंड में  लगाये  गये फलदार वृक्ष का आज के तिथि में उसका कोई अता-पता नहीं है ।उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 के 8 नवंबर को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हाई स्कूल रमपुरवा मैनाटांड़ के खेल ग्राउंड में सरकारी योजनाओं का शिलान्यास करने के लिए आए हुए थे। उसी दौरान सीएम नीतीश कुमार के द्वारा हाई स्कूल रमपुरवा के खेल ग्राउंड में वृक्षारोपण किया गया। वृक्षारोपण के द्वारा उनके हाथों फलदार वृक्ष लगाया गया। जिसे तुरंत लोहे की जाली से घेर दिया गया था। वृक्षारोपण के समय के मौजूदगी में तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, तत्कालीन मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, मंत्री संजय झा,राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे, विधायक विनय बिहारी सहित कई जनप्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद रहे। लेकिन अफसोस की बात है कि उस एक आम के पेड़ की रखवाली मनरेगा विभाग नहीं कर सका।उसके पहले पूरे हाई स्कूल के ग्राउंड में और  बाहर और भीतर वृक्षारोपण किया गया था। उस वृक्षरोपण पर मनरेगा विभाग के द्वारा पांच लाख से ऊपर की राशि खर्च अनुमानित राशि का एक बोर्ड एक भी लगाया गया था। लेकिन आज की तिथि में ना ही वृक्ष हैं का पता है और ना ही मनरेगा  द्वारा लगाए गए बोर्ड का पता है ।ऐसे में सवाल उठता है कि जब बिहार के कप्तान के द्वारा लगाये गये वृक्ष की रखवाली प्रखंड का मनरेगा विभाग नहीं कर सका तो प्रखंड क्षेत्र की स्थिति की बात करना बेमानी होगा। उधर जदयू सेवा दल के प्रखंड अध्यक्ष अक्षय कुमार आनंद ने बताया कि बिहार के मुखिया के द्वारा लगाए गए वृक्ष की  देखभाल मनरेगा विभाग के अधिकारी और कर्मचारी नहीं कर सके।यह बहुत दुख की बात है। ऐसे में जिला प्रशासन के द्वारा जांच कर लापरवाह कर्मियों पर कार्रवाई करनी चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!