Breaking News

चक्रसन में मिले बाघिन के शव का मंगुराहा में हुआ पोस्टमार्टम


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

मैनाटांड़: वाल्मीकिनगर टाइगर प्रोजेक्ट जंगल के सटे मानपुर वन क्षेत्र के समीप चक्रसन गांव के करमवहवा सरेह में मिले शनिवार की शाम बाघिन के शव का पोस्टमार्टम मंगगुराहा वन रेंज कार्यालय परिसर में पशु डॉक्टरों के उपस्थिति में किया गया।

 इसकी पुष्टि करते हुए मंगुराहा वन रेंज के रेंजर सुनील कुमार पाठक ने बताया कि शनिवार की देर शाम जिस बाघिन का शव चक्रसन गांव के समीप से बरामद किया गया था ।उसका पोस्टमार्टम करा ली गई है ।और इसका जांच भी वैज्ञानिक तरीके से की जा रही है। कि बाघिन की मौत किस परिस्थिति में कैसे और क्यों हुआ है। रेंजर ने बताया कि जिस बाघिन का शव बरामद किया गया है। वह टी-31 बाघिन है। उन्होंने बताया कि मानपुर वन रेंज के कर्मियों और कैटल गार्डों का निर्देश दिया गया है कि मानपुर वन क्षेत्र में गश्ती को तेज करें ताकि जंगली जानवरों के हरे गतिविधियों पर नजर बनायी रखी जा सके ।बाघों के अधिवास पर भी ध्यान दें।

बाघ सहित अन्य जानवरों को कोई परेशानी नहीं हो इसका भी निगरानी के अंदर ध्यान रखें। ताकि बाघ सहित अन्य जानवर रिहाईशी इलाके की तरफ नहीं आयें।उल्लेखनीय है कि 13 अक्टूबर को भी चक्रसन गांव के समीप दो बाघों की भिड़ंत में एक बाघ की मौत हो गयी थी और अब महज दो महीने बाद 11 दिसंबर को फिर चक्रसन गांव के समीप ही बाघिन के शव का मिलना कई सवालों को जन्म देता है। ऐसे में बाघ के मानपुर वन क्षेत्र में सुरक्षित रहने पर गंभीर सवाल खड़ा हो रहा।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!