Breaking News

उन्नाव जिले में एएनएम टीकाकरण उपलब्धियां गिनाने में फेल और प्रशासन बेखबर


उन्नाव जिला ब्यूरो चीफ अवधेश कुमार की रिपोर्ट 

उन्नाव जिले के सी एम ओ बेखबर 16 ब्लॉकों के अंतर्गत सभी जिला अस्पताल से जाने वाली उन्नाव। जिले में 50 से 60 हज़ार कमाने वाली एएनएम गांव गांव जाकर टीकाकरण के नाम पर भूल बैठी है उपलब्धियां बिन बताए ठोक देती है इंजेक्शन ।

एएनएम 50 से ₹60 हज़ार कमाने वाली को नहीं मालूम होता है टीकाकरण के बारे में गांव गांव जाकर नहीं बता पाती है लोगों को इसकी उपलब्धियां बिन बताए ठोक देती है सुई ।

गांव में जा जाकर प्रतिदिन 20 से 50 लोगों को लगाती है कोरोना का टीका,अब तक ऐसे कई गांव है जिसमे हड़कंप मच गया है ।

उन्नाव जिले के जब कई गांव में बुजुर्ग व महिलाओं द्वारा इस टीकाकरण के बारे में कुछ महिलाओं द्वारा इस की उपलब्धियां पूछी गई तो बगले झांकने लगी आखिर ऐसे एएनएम पर सीएमओ साहब कब देंगे अधीक्षकों को फरमान गांव में एएनएम को भेजकर कोरोना वैक्सीन लगवाने का हैरतअंगेज मामला प्रकाश में आया है।जब कोई महिला व बुजुर्ग या आम जनमानस इसका सवाल करता है तो ना जाने गांव गांव में कैंप लगाकर टीकाकरण करने वाले कोइन की उपलब्धियां नहीं मालूम होती है जानकारी के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।जहा अभी हाल में मियागंज सीएचसी अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से हटाते हुए बांगरमऊ सीएससी कार्यालय से संबद्ध कर दिया है। इसके साथ ही गांव जाकर टीका लगाने वाली एएनएम की संविदा समाप्त करने की संस्तुति की गई। प्रकरण की जांच एसीएमओ को सौंपी गई है थी।

अब देखने वाली बात यह होगी अधीक्षकों को सीएचसी में उन्होंने कोविड नियमों कितनी अहम जानकारियां एएनएम को दी जाती है।य फिर दरकिनार करते हुए बीते दिनों एएनएम को गांव गाँव मे ड्यूटी के साथ भेजकर कई लोगों को कोरोना का टीका लगवा दिया। विभाग के अधिकारी कई दिनों तक यह मामला दबाए रहेंगे इनकी सूचना सीएमओ तक कब तक पहुंचेगी अपने आप में यह एक बड़ा चर्चा का विषय बना हुआ है।जहा कई गांव में बुजुर्गों से लेकर महिलाओं तक हड़कंप मचा हुआ है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!