Breaking News

बिहार के लाल राजेश को मुंबई में मिलेगा प्राईड ऑफ यंग हिंदुस्तान अवार्ड 2022

राम कुमार ब्यूरो रिपोर्ट समस्तीपुर

समस्तीपुर/ पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए ग्लोबल एनवायरमेंट एंड क्लाइमेट चेंज लीडर व ऑक्सीजन मैन सह पौधा वाले गुरुजी ट्रीमैन के नाम से अंतर्राष्ट्रीय फलक पर चर्चित बिहार के समस्तीपुर निवासी पर्यावरण सांसद राजेश कुमार सुमन को  आगामी 07 जनवरी 2022 को देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में यंगगिस्तान फाउंडेशन  द्वारा प्राईड ऑफ यंग हिंदुस्तान अवार्ड 2022 से सम्मानित किया जायेगा। उक्त कार्यक्रम में देशभर के 30 ग्रास रूट लेवल पर कार्य करने वाले कर्मवीरों का सम्मान के लिए चयन किया गया है।जिसमे बिहार से राजेश का चयन होने पर बिहार के लिए गर्व की बात है।राजेश हमेशा अपने पर्यावरणीय नवाचारों के माध्यम से सुर्खियों में रखते हैं और पर्यावरण संरक्षण के इनके कारनामों का आज चर्चाएं विदेशों में भी खूब होने  लगी है।

           बताते चलें कि श्री सुमन अबतक 25 लाख रु. से अधिक खुद के खर्च पर बेटी और वन को बचाने के लिए चार गांव को गोद लेकर हर घर के दरवाजे पर बेटियों के सम्मान में एक लाख दस से अधिक आम का पौधरोपण कर चुके हैं।इससे इतर जब सुमन को बड़े बड़े मंचो पर जाता था और पीठ पर पौधा और नाक में ऑक्सीजन मास्क देखकर शायद पागल समझकर मंच पर बोलने का मौका नहीं दिया जाता था तब से सुमन पीठ पर जार में पौधा और नाक में ऑक्सीजन मास्क लगाकर सांकेतिक डेमो के माध्यम से ऑक्सीजन बचाने के लिए देशभर में सड़क के किनारे घूम - घूमकर ऑक्सीजन बचाओ हरित पद यात्रा कैंपेन चला रहे हैं।अब तक देशभर में 49000 किमी. से अधिक दूरी तय कर ऑक्सीजन बचाने के लिए देशवासियों को जागरूक कर चुके हैं।

       सुमन के मार्गदर्शन में पेड़ पौधा वाला दुनियां का पहला  ग्रीन पाठशाला बीएसएस क्लब का संचालन रोसड़ा, समस्तीपुर में किया जा रहा है। जहां प्रतियोगी छात्र- छात्राओं को प्रतियोगिता परीक्षाओं की कोचिंग दिया जाता है और भारत माता को पर्यावरण प्रदूषण से आजाद करवाने के लिए फीस के रूप में 18 पौधरोपण करवाया जाता है।अबतक 5 हजार से अधिक प्रतियोगी छात्र - छात्राओं को कोचिंग दिया गया है, जिसमें से 5 सौ से अधिक प्रतियोगी छात्र - छात्राएं विभिन्न शासकीय सेवाओं में चयनित होकर सेवा दे रहे हैं।सेल्फी विद ट्री कैंपेन के तहत सुमन विभिन्न  शादी,जन्मदिन, मुंडन, जनेऊ और श्राद्धकर्म जैसे सामाजिक आयोजन पर पहुंचा पौधा भेंट करते हैं और इस अवसर पर पौधरोपण को संस्कार में शामिल करने करने के लिए आमजनों को प्रेरित करते रहते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!