Breaking News

सरकार ने डिजिटल प्लेटफार्म सहित गृह आधारित शिक्षण का दिया आदेश


दावथ
(रोहतास): कोरोना  की तीसरी लहर को लेकर विभाग ने स्कूलों को बंद कर, ऑनलाइन पढ़ाने की बात कही है. प्राइवेट स्कूलों ने तो सरकार के आदेशानुसार ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था कर दी  है।

 लेकिन सरकारी स्कूलों के छात्रों को स्कूल बंद हो जाने की वजह से परेशानी हो रही है।कई बच्चे पढ़ाई में पिछड़ रहे हैं।ऐसे मेंं शिक्षा विभाग की ओर से शुक्रवार को एक पत्र जारी किया गया, जिसमें विभाग के अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि कोरोना काल में विद्यालय बंद हैं।ऐसे में बच्चों के पठन-पाठन की निरंतरता बनाए रखने के लिए  अनुवर्ती कार्रवाई सुनिश्चित किया जाना है। ऐसे में डीडी बिहार की तरफ से कक्षा 6 से लेकर 12वीं तक के बच्चों के लिए 17 जनवरी से शैक्षणिक प्रसारण आरंभ किया जा रहा है।  मिली जानकारी अनुसार कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए सुबह 09 से 10 बजे, 9 और 10वीं के लिए 10 से 11 बजे और 11वीं और 12वीं के लिए सुबह 11 से 12 बजे तक प्रसारण किया जाएगा।

वहीं वैसे बच्चे जिनके पास डिजिटल डिवाइस की सुविधा उपलब्ध है, वे ई लाईब्रेरी पर  कक्षा 1 से 12 तक की पुस्तकें और ई-कंटेंट के माध्यम से घर पर पढ़ाई कर सकते हैं।सभी विद्यालयो के प्रधानाध्यापक कक्षावार ऐसे विद्यार्थियों का वाट्सअप ग्रुप बनाकर यथासंभव अलग-अलग ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे जूम मीटिंग, गूगल मीट, फेसबुक पेज, यूट्यूब चैनल आदि का उपयोग कर अपने  शिक्षकों के माध्यम से बच्चों को आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करेंगे।

  • घर पर जाकर पढ़ाएगें शिक्षक--

विभाग ने 1 से 5 के बच्चों के साथ वैसे बच्चे, जिनके पास डिजिटल  सुविधा उपलब्ध नहीं है.वैसे बच्चों को गृह आधारित शिक्षण हेतु  केआरपी,शिक्षा सेवक टोला भ्रमण कर मार्गदर्शन देगें।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!