Breaking News

उन्नाव से बड़ी खबर पत्रकारों को धमकने वाले रहे सावधान, फतेहपुर 84 पुलिस दर्ज करें एफआईआर


उन्नाव जिला ब्यूरो चीफ अवधेश कुमार की रिपोर्ट 

मामला फतेहपुर 84 गांव मुंडहा का है जहां TV भारत और द पेनपाल समाचार पत्र के वरिष्ठ पत्रकार अरविंद तिवारी को दिनांक 13 जनवरी को शाम चार बजे बांगरमऊ के पूर्व विधायक बदलू खा के साथ आए उनके समर्थक शिव प्रताप सिंह, रोहित सिंह पुत्रगण कृष्ण पाल सिंह जोकि एक अध्यापक है निवासी सुसु मऊ थाना फतेहपुर 84 के जनसंपर्क के दौरान पत्रकार अरविंद तिवारी से उलझ गए और कहने लगे कि यह तो भाजपा के आदमी हैं उनके लिए कार्य करते हैं जिस पर पत्रकार ने कहा कि वह पत्रकारिता करता है और निष्पक्ष तरीके से अपनी बात लोगों तक पहुंचाते हैं जिसपर उत्तेजित होते हुए दोनों व्यक्तियों ने अपशब्द कहे और मारने का भी प्रयास किया जिस पर वहां के स्थानीय लोगों ने रोका ।

पत्रकार अरविंद तिवारी ने फतेहपुर 84 में तहरीर देकर एफ आई आर दर्ज करने की थानाध्यक्ष से मांग की है और दोषियों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्यवाही का भी अनुरोध किया है।

पत्रकारिता भारत देश के समाज का चौथा स्तंभ माना जाता है जिसमें समाज को सुचना एकत्र करने, पहुंचने और जागरूक रखने की जिम्मेदारी होती है।

लेकिन आज की राजनीति उसको अपना गुलाम समझने लगी है। राजनीति यूं ही बदनाम नहीं है इसमें कुछ ऐसे भी कुंठित मानसिकता के लोग हैं जिनको अपने निजी स्वार्थ ज्यादा प्रिय होते हैं राजनीति में वह यू ही नही चले आते हैं कि वह समाज में अपने आपको प्रभावशाली दिखा सके और समाज में रहने वाले लोगों पर अनैतिकता पूर्ण रूप से दबाव बनाकर राजनीति चमका सकें।

अब सवाल यह उठता है की ऐसे अध्यापको पर क्या कार्यवाही होती हैं या यूहीं ठंडे बस्ते में डाल दी जाती हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!