Breaking News

डमरापुर उप स्वास्थ्य केंद्र जर्जर को लेकर आक्रोश, स्वास्थ्य सुविधा भी नदारद


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

 मैनाटांड़: सरकार स्वास्थ्य विभाग को धरातल पर लाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। लेकिन ठीक इसके उल्टा थरूहट क्षेत्र के सबसे अंतिम छोर पर स्थित स्वास्थ्य उपकेंद्र डमरापुर की दशा कुछ और बयां कर रही है। डमरापुर पंचायत के बिरंची, डमरापुर, भिरभिरिया, दुधौरा सहित एक दर्जन से अधिक गांव के लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए डमरापुर में बना उप स्वास्थ्य केंद्र पुरी तरह जर्जर है।जिससे लोगों को अन्यत्र जगह बीस किलोमीटर या उससे ज्यादा ही दूरी तय कर मैनाटांड़ या नरकटियागंज जाकर अपना इलाज कराना पड़ता है। चाहे झोलाछाप चिकित्सकों के भरोसे रहना पड़ता है। जिसको लेकर मुखिया अमरेंद्र यादव के नेतृत्व मे दर्जनो ग्रामीणों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया।विरोध प्रदर्शन कर रहे सरपंच वीर बहादुर पासवान, कामता यादव, बिहारी साह, प्रेम यादव, लालबाबू यादव, सुमन यादव, शिवनाथ यादव, अवधेश यादव, काशी यादव आदि ने बताया कि डमरापुर स्वास्थ्य उपकेंद्र बिल्कुल जर्जर है।कभी कभार स्वास्थ्य कर्मी आकर नियमित टीकाकरण कर कोरम पूरा कर लेते हैं। हम लोग यह नहीं जान पाते हैं कि हम लोगों के यहा स्वास्थ्य उप केंद्र भी है और उसमें स्वास्थ्य कर्मी भी तैनात हैं। स्वास्थ्य केंद्र के जर्जर होने के कारण स्वास्थ्य सेवा भी नदारद रहता है। जिसके कारण हम सबों को इलाज कराने में काफी कठिनाई होती है। वही ग्रामीणों ने विभाग से उप स्वास्थ्य केंद्र के जर्जरता को ठीक कराते हुए स्वास्थ्य सुविधा बहाल करने की मांग की है। अन्यथा उग्र होकर आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!