Breaking News

ज़िला स्तरीय समीक्षा समिति ( बैंकिंग ) की बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई आयोजित।


सीतामढ़ी जिला ब्यूरो दीपक पटेल की रिपोर्ट

सभी बैंकों को ब्रांचवार केसीसी से संबधित उपलब्ध कराए गए फॉर्मेट में एक सप्ताह के अंदर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का दिया निर्देश एवम एलडीएम को सौपी इसकी जबाबदेही।

मत्सय , डेयरी,एवम पशुपालक किसानों को कैम्प लगाकर क्रेडिट कार्ड ऋण प्राथमिकता के आधार पर देने का दिया निर्देश। 

 निलामपत्र वादों के त्वरित निष्पादन हेतु प्रत्येक माह के 10 एवम 20 तारीख को सबंधित बैंक को बैठक में भाग लेने का दिया निर्देश।

सभी प्रखंडो में कम से कम एक बैंक शाखा द्वारा आधार पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध कराने का दिया निर्देश।

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक की पुस्तक संभाव्यतायुक्त ऋण योजना,सीतामढ़ी वर्ष 2022-23 पुस्तक का लोकार्पण भी किया गया । 

ज़िलास्तरीय परामर्शदात्री समिति एवम ज़िला स्तरीय समी़क्षा समिति की बैठक जिलाधिकारी सुनील कुमार की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित परिचर्चा भवन में आयोजित की गई।सर्वप्रथम एलडीएम द्वारा आगंतुक सभी माननीय जनप्रतिनिधियों ,जिलाधिकारी सहित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए सितंबर माह में हुई बैठक की कार्यवाही से अवगत करवाया गया। जिलाधिकारी ने पॉवर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से ज़िले के 168 बैंक शाखाओं के समेकित प्रतिवेदन की समी़क्षा किया। समीक्षा के क्रम में यह पाया गया की ज़िले का शाख जमा अनुपात 44.75 प्रतिशत है जबकि बिहार राज्य का शाख जमा अनुपात 45.68 प्रतिशत है । जिलाधिकारी द्वारा भारतीय स्टेट बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया पंजाब नेशनल बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा इंडियन ओवरसीज बैंक आईडीबीआई बैंक केनरा बैंक को विशेष रूप से अपेक्षित स्तर पर सुधार करने का निर्देश दिया गया जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जिन बैंकों का मार्केट शेयर ज्यादा है उनका साख अनुपात 40% से कम कदापि नहीं रहना चाहिए। वार्षिक ऋण योजना में ज़िले की प्रगति 14.11.प्रतिशत है जबकि राज्य की औसत प्रगति 18.49 प्रतिशत है । जिलाधिकारी ने बैंकरों को शाख जमा अनुपात एव वार्षिक ऋण योजना में और ते़जी लाने का निर्देश दिया ,साथ ही सभी बैंकों को वित्तीय वर्ष 2021-22 के वार्षिक ऋण योजना में लक्ष्यके अनुरुप प्रगति करने एवं ऋण जमा अनुपात को राष्ट्रीय तक लाने की कार्यनीति बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने सरकार की योजनाओ की प्रगति में बैंकों को सहयोग करने को कहा। उन्होंने सभी बैंकों को केसीसी लोन उपलब्धि लक्ष्य का शत प्रतिशत हर हाल में प्राप्त करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सभी बैंकों को ब्रांचवार केसीसी से संबधित उपलब्ध कराए गए फॉर्मेट में एक सप्ताह के अंदर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया,ताकि केसीसी लोन के लक्ष्य को तेजी के साथ प्राप्त किया जा सके।उन्होंने मत्सय, डेयरी पशुपालक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड ऋण कैंप लगाकर प्राथमिकता के आधार पर देने का निर्देश दिया। ज़िला मत्स्य कार्यालय,ज़िला गव्य विकास कार्यालय,दुग्ध सहकारी समिति एवं ज़िला पशुपालन कार्यालय द्वारा बैंकों को भेजे गये आवेदनों का भी तुरंत निष्पादन करने का भी निर्देश दिया । पीएम स्वनिधि योजना के तहत सभी फुटकर विक्रेताओं का ऋण हेतु बैंकों को कैम्प मोड़ में निष्पादन करने का निर्देश दिया । उन्होंने कहा कि सभी बैंक प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना , प्रधानमंत्री सुरक्षा वीमा योजना एवं अटल पेंशन योजना का लाभ ज़िले के सभी लोगों तक सहजता के साथ पहुचाए। निलामपत्र वादों के समीक्षा के क्रम में निलामपत्र वादों के त्वरित निष्पादन हेतु प्रत्येक माह के 10 एवम 20 तारीख को सबंधित बैंक को बैठक में अनिवार्य रूप भाग लेने का निर्देश दिया। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि उक्त बैठक में पंजी 9 एवम 10 का मिलान अनिवार्य रूप से करे ताकि जिला निलामपत्र पदाधिकारी के द्वारा दी गई सूची एवम बैंकों की सूची से मिलान कर इसे सुधार हेतु राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति को भेजा जा सके। उन्होंने एलडीएम को निर्देश दिया कि सभी प्रखंडो में कम से कम किसी भी बैंक की एक शाखा द्वारा आधार कार्ड पंजीकरण का कार्य अनिवार्य रूप से शुरू करवाना सुनिश्चित करे,ताकि स्थानीय लोगो को इसको लेकर इधर-उधर भटकना नही पड़े। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंडो में कम से कम एक बैंक शाखा द्वारा RSETI से प्रशिक्षण प्राप्त प्रशिक्षुओंको क्रेडिट लिंकेज बढ़ाने पर बल देने की बात कही । जीविका को क्रेडिट लिंकेज की समीक्षा के क्रम में डीपीएम जीविका द्वारा बताया गया कि जिले में 37400 समूह कार्यरत है जिलमे अधिकांश का खाता खुल गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि डीपीएम सबंधित बैंक शाखा से समन्वय कर शेष सभी का अविलंब खाता खुलवाना सुनिश्चित करे। उन्होंने शत प्रतिशत जीविका दीदियों को बीमा कवरेज स्किम का लाभ ससमय दिलवाने हेतु बैंकों को निर्देश दिया। बैठक के अंत मे जिलाधिकारी एवम उपस्थित माननीय जनप्रतिनिधियों द्वारा राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक की पुस्तक संभाव्यतायुक्त ऋण योजना,सीतामढ़ी वर्ष 2022-23 पुस्तक का लोकार्पण भी किया गया। उक्त बैठक में माननीय विधान सभा सदस्य बेलसंड श्री संजय गुप्ता, माननीय विधान सभा सदस्य बाजपट्टी श्री मुकेश यादव,माननीय अध्यक्ष,जिला परिषद सीतामढ़ी,श्रीमती अदिति कुमारी,डीडीसी विनय कुमार, क्षेत्रीय प्रबंधक, बैंक ऑफ बड़ौदा शिव शंकर सिंह,एलडीएम लाल बहादुर पासवान, डीपीआरओ परिमल कुमार सहित कई वरीय पदाधिकारी एवम सभी बैंकों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!