Breaking News

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उदघोषित मन की बात भाजपाइयों ने सुना


सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट

  •  मोदी जी ने कहा हमें गर्व से अपनी मातृभाषा में बोलना चाहिए 
  •  मन की बात में मोदीजी ने कहा मातृभाषा हमारे जीवन को हमारी मां की तरह गढ़ती है 
  • पीएम मोदी जी ने मन की बात में कहा कि 1000 वर्ष पुरानी पद्मपाणि प्रतिमा को वापस लाना सुखद क्षण 

भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व जिला पार्षद विकास प्रसाद सिंह ने आज विश्व के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता व देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा उद्बोधित मन की बात को कागेश्वर पंचायत के शोभाखन महादलित मुहल्ले में कार्यकर्ता व ग्रामीणों के साथ सुनी ।

 श्री विकास ने बताया कि आज के मन की बात में मोदी जी ने कहा कि वर्ष 2013 तक पुरानी जो हज़ारों वर्ष पहले चोरी होकर विदेश जा चुकी थी उसमें से मात्र 13 प्रतिमाएं भारत आई थीं , लेकिन पिछले 7 वर्षों में भारत ने 200 से ज्यादा बहुमूल्य प्रतिमाओं को सफलतापूर्वक वापस लाया है । जिस पर देशवासी गौरवान्वित महसूस कर रहे है । भाजपा नेता श्री सिंह ने बताया कि आज के मन की बात में प्रधानमंत्री जी द्वारा पिछले सात वर्षों में देश में आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार पर बहुत ध्यान दिया गया है उसकी भी चर्चा विस्तार से किये हें । उन्होंने कहा कि भारत में आप जहां भी जाएंगे आप पाएंगे कि स्वच्छता की दिशा में कुछ न कुछ प्रयास हो रहा है । देश की आधी आबादी की चर्चा करते हुए कहा कि आज पंचायत से लेकर संसद तक हमारे देश की महिलाएं नई ऊंचाइयों को छू रही हैं । 

भाजपा नेता श्री विकास ने आगे कहा कि प्रधानसेवक श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आज की मन की बात में बताए कि आजादी के 75 साल बाद भी कुछ लोग ऐसे मानसिक द्वन्द में जी रहे हैं जिसके कारण उन्हें अपनी भाषा , अपने पहनावे एवं अपना खान-पान को लेकर एक संकोच होता है , जबकि विश्व में कहीं और ऐसा नहीं है । हिंदी हमारी मातृभाषा है हमें उसे गर्व के साथ बोलना चाहिए और हमारा भारत तो भाषाओं के मामले में इतना समृद्ध है कि उसकी तुलना ही नहीं हो सकती । हमारी भाषाओं की सबसे बड़ी खूबसूरती ये है कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक , कच्छ से कोहिमा तक सैकड़ों भाषाएं , हजारों बोलियाँ एक दूसरे से अलग लेकिन एक दूसरे में रची-बसी हुई हैं जिसमें भाषा अनेक भाव एक ।

मन की बात कार्यक्रम में पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नरेंद्र सिंह , किसान मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य उदय नारायण सिंह , बालमुकुंद सिंह , बिरेन्द्र शर्मा , पंचानन पाण्डेय , लालजीत सिंह , रोहित सिंह , सुबोध सिंह , पंचू मांझी , कपिल मांझी , दिवाकर मांझी तथा रामविलास मांझी सहित दर्जनों ग्रामीण शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!