Breaking News

खनन माफियाओं ने मिट्ठुखेड़ा में तालाब की भूमि को रातोंरात खोद डाला।


उन्नाव जिला ब्यूरो चीफ अवधेश कुमार की रिपोर्ट 

नायब तहसीलदार ने मामला संज्ञान में आने के बाद राजस्व टीम गठित कर खनन स्थल की जांच कर रिपोर्ट मांगी। राजस्व टीम में लेखपाल सुभाष वर्मा, सन्दीप व अन्य कर्मचारी खनन स्थल पर पहुचे। गाटा संख्या 319/2 पर खनन माफियाओं ने अवैध खनन कर मिट्टी लगभग 1 किलोमीटर दूर एक खेत मे डम्प किया। खनन माफिया खोदी गई मिट्टी को ले जाते कि उससे पहले ही नायब तहसीलदार ने संज्ञान लिया। थाना क्षेत्र के मिट्ठूखेड़ा रेलवे लाइन के समीप तालाब में राजस्व टीम ने अवैध खनन स्थल की पैमाइस की, जहां लगभग 120 घन मीटर पर अवैध खनन पाया गया। ग्राम प्रधान को मौके पर बुलाकर राजस्व टीम ने बात की। ग्राम प्रधान सत्यज्ञान प्रकाश ने बताया कि अवैध खनन के बारे में उन्हें कोई भी जानकारी थी। जिस वक्त जानकारी हुई तत्काल खनन माफिया नत्थूलाल पुत्र भगवानदीन निवासी मिट्ठूखेड़ा का एक ट्रैक्टर शामिल था, जिसमें सुनील यादव निवासी नेवादा की जेसीबी मशीन व 4 अज्ञात ट्रैक्टरों को नामित कर नायब तहसीलदार को अग्रिम कार्यवाही हेतु प्रार्थना पत्र दिया गया। इसके बाद राजस्व टीम ने ग्राम प्रधान के पक्ष के बयान दर्ज करने के बाद राजस्व टीम ने खनन माफियाओं के बयान दर्ज करने की बात कहकर वापस लौट गई।

         नायब तहसीलदार तनवीर कबीर ने बताया कि लेखपाल द्वारा जो जांच रिपोर्ट मिली है उसमें अवैध खनन की पुष्टि हुई है, जांच रिपोर्ट को अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बंधित थाना पुलिस व खनन विभाग को अग्रिम कार्यवाही हेतु भेज दिया गया है। साथ ही एसएचओ को खनन माफियाओं व वाहनों पर कठोर कार्यवाही के लिए सख्त निर्देशित किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!