Breaking News

संतान दायिनी मां ब्रह्मदेवी स्थान में उमड़ी भीड़

 

सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल कि रिपोर्ट// मां ब्रह्मादेवी के प्रति क्षेत्र के लोगों में अटूट आस्था है । सच्चे मन से मां से मांगी गई मुरादें निश्चित रूप से पूरी होती है । संतान दायिनी मां ब्रह्मादेवी के मंदिर में मुंडन संस्कार की परंपरा है । पूरे वर्ष मुंडन संस्कार किया जाता है । सोनो प्रखंड के अलावा अनेक जिलों से पूजा और मुंडन संस्कार व मिन्नत के लिए मां ब्रह्मादेवी के दरबार में प्रति वर्ष बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं , लेकिन मंदिर तक पहुंचने के लिए उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है । खासकर बच्चों और बुजुर्गों को मंदिर जाने में ज्यादा परेशानी होता है । नदी की दूसरी और किनारे पर स्थित माता के इस मंदिर तक जाने के लिए जहां बरनार नदी को पैदल पार करना होता है , वहीं नदी किनारे बसे माता की मंदिर तक जाने का एकमात्र रास्ता पगडंडी ही है ।सड़क व पुल के अभाव में दूरदराज से आए बड़ी संख्या में लोगों ने सोनो बाजार से तकरीबन दो किलोमीटर दूर पैदल पगडंडी पर चलते हुए मंदिर तक पहुंचकर बरनार नदी में स्नान कर माता का दर्शन किया । साथ ही नदी का बालू व पानी से होकर गुजरते हुए नदी के दुसरी छोर बसे माता मंदिर तक श्रधालु पहुंचे । मंदिर के पुजारी ने बताया कि कागज से बनाये गये झांप ओर फुलहरा सर्वाधिक मात्रा में माता को चढ़ाई जाती है । ज्ञात हो कि माता की पूजा तो सालों भर की जाती है लेकिन मार्ग मास एवं भादो मास की पूर्णिमा को अर्ध वार्षिक पुजा की जाती है जिस कारण आज श्रधालुओं की भीड़ काफी लगी रही ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!