Breaking News

स्वच्छ वातावरण में कदाचारमुक्त सम्पन्न करायी जायेगी मैट्रिक परीक्षा - जिलाधिकारी





वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा // वैशाली समाहरणालय सभागार में केन्द्राधीक्षक,प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी श्रीमती उदिता सिंह के द्वारा संयुक्त ब्रिफिंग में कहा गया कि वैशाली जिला में वार्षिक माध्यमिक (सैद्धान्तिक) परीक्षा-2022 को स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण वातावरण में कदाचार मुक्त सम्पन्न करायी जायेगी। इस परीक्षा में कुल 59057 परीक्षार्थी भाग लेंगे जिसके लिए कुल 60 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। इन परीक्षा केन्द्रों में हाजीपुर अनुमंडल में 29 ,महुआ अनुमंडल में 21 तथा महनार अनुमंडल में कुल 10 परीक्षा केन्द्र सम्मिलित हैं। परीक्षा 17 फरवरी को प्रारंभ होकर 24 फरवरी को समाप्त होगी। परीक्षा दो पालियों में ली जायेगी जिसमें प्रथम पाली 9:30 बजे पूर्वा 0 से 12:45 बजे अप 0 तक तथा द्वितीय पाली 1:45 बजे अप 0 से 5:00 बजे अप ० तक चलेगी। परीक्षा केन्द्रों पर विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए अनुमंडल पदाधिकारियों को परीक्षा अवधि के दौरान परीक्षा केन्द्रों की 500 मीटर की परिधि में दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू करने का निदेश दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर स्टैटिक दण्डाधिकारी,वरीय दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गयी है जो स्वच्छ वातावरण में परीक्षा सम्पन्न करायेंगे तथा परीक्षा केन्द्रों के आसपास भीड़ न लगे इसे सुनिश्चित करायेगें।इसके अतिरिक्त गश्ती दल दण्डाधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गयी है जो विधि व्यवस्था सहित शहरी क्षेत्रों में फोटो स्टेट केन्द्र/ दुकान पर विशेष नजर रखेंगे तथा परीक्षा केन्द्र के निकट के फोटो स्टेट के दुकानों को बंद करा देगें।जिलाधिकारी ने कहा की सभी प्रतिनियुक्त पदाधिकारी,7:30 बजे पूर्वा0 तक अपनी प्रतिनियक्ति स्थल पर स्थान ग्रहण कर लेगें। वैशाली जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा केन्द्र के भीतर परीक्षार्थियों के अतिरिक्त अनाधिकृत प्रवेश वर्जित रहेगा तथा परीक्षा केन्द्र में प्रवेश के समय परीक्षार्थियों की तलाशी निश्चित रूप से करा ली जाय। महिला परीक्षार्थी की तलासी केवल महिला पदाधिकारी/ कर्मी ही करेंगी इसके लिए कपड़े का एक बंद घेरा बनाने का निदेश दिया गया। कोई भी परीक्षार्थी किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक उपकरण यथा- मोबाईल , ब्लूटूथ पेजर , आदि लेकर परीक्षा केन्द्र में नहीं जायेगा।परीक्षा में कदाचार करने या उसे प्रोत्साहित करने एवं आदेश का उल्लंघन करने वाले के विरुद्ध बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 की सुसंगत प्रावधानों के अन्तर्गत अधिक से अधिक 06 माह का कारावास या 2000 रू ० तक का जुर्माना या दोनों से दंडित किया जा सकता है। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था करायी गयी है तथा सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है। सभी केन्द्राधिक्षकों को निदेश दिया गया कि परीक्षा कक्ष में बैठने सम्बंधि सीट प्लान की एक प्रति मुख्य प्रवेश द्वार पर तथा एक प्रति सूचना पट पर लगाना सुनिश्चित करेगें।परीक्षा कक्ष के अन्दर प्रत्येक बेंच पर अधिकतम दो परीक्षार्थियों की बैठने की व्यवस्था करेगें तथा प्रति 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक की प्रतिनियुक्ति करेगें तथा यह सुनिश्चित करेगें की किसी भी कक्ष में दो से कम वीक्षक न हो।जिलाधिकारी ने कहा कि जिला अन्तर्गत सभी परीक्षा केन्द्रों के सम्पूर्ण व्यवस्था के वरीय प्रभार में अपर समाहर्ता श्री जितेन्द्र प्रसाद साह एवं पुलिस उपाधीक्षक (मु ०) श्री देवेन्द्र प्रसाद रहेंगें। सभी परीक्षा केन्द्रों पर कोविड -19 अनुकुल व्यवहार के अनुपालन का निदेश दिया गया। परीक्षा अवधी के दौरान यातायात को सुचारू बनाये रखने का निर्देश जिला परिवहन पदाधिकारी को दिया गया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि परीक्षा केन्द्र पर कार्यरत एवं प्रतिनियुक्ति सभी लोगों को पहचान पत्र निर्गत किया जाय तथा केन्द्र पर पानी पीलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जाय।परीक्षा अवधि में 07:00 बजे पूर्वा० से परीक्षा समाप्ति तक 06224-260220 पर जिला नियंत्रण कक्ष कार्यरत रहेगा जिसके वरीय प्रभारी जिला आपूर्ति पदाधिकारी को बनाया गया है। महुआ अनुमंडल के लिए अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय कक्ष दूरभाष सं०-06227-223214 पर एवं महनार में महनार अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय कक्ष दूरभाष सं०-06229-235220 पर नियंत्रण कक्ष कार्यरत रहेगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के साथ जिला शिक्षा पदाधिकारी , अनुमंडल पदाधिकारी , अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी , डीसीएलआर एवं वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!