Breaking News

किशोरियों के बीच खेलकूद प्रतियोगिता का किया गया आयोजन

  • अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कल मनुआ में किया जाएगा मुख्य कार्यक्रम का आयोजन


वैशाली:
भारत सरकार के फील्ड आउटरीच ब्यूरो, छपरा तथा आईसीडीएस, हाजीपुर के संयुक्त तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से एक दिन पूर्व 7 मार्च को हाजीपुर प्रखंड के मनुआं स्थित उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। स्सी कूद, म्यूजिकल चेयर एवं कबड्डी प्रतियोगिताओं को देखने वालों में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं एवं ग्रामीण उपस्थित थे, जिन्होंने सभी खेलों का खूब लुफ्त उठाया।

कार्यक्रम के आयोजक एवं एफओबी, छपरा के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सह आरओबी, पटना के कार्यक्रम प्रमुख पवन कुमार सिन्हा ने कहा कि मंत्रालय द्वारा पूरे देश भर में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में विभाग द्वारा वैशाली जिले के मनुआं में किशोरियों एवं छात्राओं के बीच खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि खेल प्रतियोगिता में किशोरियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। यह उनके खेल भावना को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजनों से बच्चों के बीच परंपरागत खेलों के प्रति रुचि बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि रस्सी कूद, म्यूजिकल चेयर एवं कबड्डी प्रतियोगिता के विजेताओं को कल के मुख्य कार्यक्रम में पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कल के मुख्य कार्यक्रम में जादूगर शो का भी आयोजन किया जाएगा।

 हाजीपुर की सीडीपीओ ओनम ने कहा कि किशोरियों एवं छात्राओं के बीच इस तरीके के खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन उनका उत्साहवर्धन करता है। उन्होंने कहा कि हमारी किशोरियां किसी से कम नहीं हैं। आज जिस तरह से किशोरियों ने खेल में अपनी भूमिका निभाई है, वह उनके जोश और जज्बे को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि आज लडकियां हर क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। 

विद्यालय के प्राचार्य अवधेश कुमार ने कहा कि मोबाइल के प्रचलन से आज के बच्चे अपने परंपरागत खेलों को भूल से गए हैं। आज जरूरत इस बात की है कि हर विद्यालय एवं संस्थाओं में परंपरागत खेलों को अधिक से अधिक बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने कहा कि इन खेलों से ना केवल बच्चों का शारीरिक विकास होगा बल्कि से उनका मानसिक विकास भी होगा।

एफओबी, छपरा के सहायक क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी सर्वजीत सिंह ने कहा कि मंत्रालय का हमेशा से प्रयास रहा है कि ग्रामीण स्तर के खेलों को अधिक से अधिक बल मिले ताकि जो खेल की विधा है, वह आने वाली पीढ़ी में भी जिंदा रहे। विभाग हमेशा ही ग्रामीणों के बीच इस तरीके के खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन करता आया है और इस विशेष अवसर पर ही आधी आबादी के लिए आज के कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

कार्यक्रम स्थल पर आईसीडीएस, हाजीपुर की पर्यवेक्षिका श्वेता कुमारी, आंगनबाड़ी सेविकाएं, सहायिकाएं एवं बड़ी संख्या में स्कूल छात्र-छात्राएं एवं ग्रामीण मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!