Breaking News

सफलता की नजीर बनी गोरौल की बेटी, डाँक्टर बनकर समाजसेवा करना चाहती है श्रेया


वैशाली
: मेहनत और दृढ़ इच्छाशक्ति से हर कोई इंसान अपनी सफलता का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।इण्टरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2022 में विज्ञान संकाय की हुई परीक्षा में सर्वाधिक 420 अंक लाकर गोरौल बाजार की श्रेया भारती गोरौल एवं पटेढी बेलसर प्रखंड के लिए नजीर बन गई है।गोरौल उच्च वविद्यालय से परीक्षा में सम्मिलित हुई श्रेया अपने  दादा रामचंद्र प्रसाद सिंह और दादी विद्या देवी के सान्निध्य मे गांव में ही रहकर लगभग बारह से चौदह घंटे तक अध्ययन करती थी।परीक्षा को लेकर अपनी तैयारी के संबंध में उसने बताया कि वह इण्टरनेट और ऑनलाइन से भी उसने मदद ली और अनवरत अभ्यास करती रही।उसने अपने शिक्षक पिता संजय कुमार के बारे में बताया कि उनके पिता श्री कुमार विद्यालय से लौटने के बाद प्रत्येक विषय ऑब्जेक्टिव सेट्स मुझसे बनवाते थे। यह टेक्निक बहुत काम आया। श्रेया ने यह भी बताया कि उसकी मां गृहिणी है और उसकी हर जरूरतें पूरी करवाने में वे सहायक हुई।अपनी सफलता का श्रेय वह अपने माता-पिता और अपने ट्विटर को देते हुए आगे अपने कैरियर के बारे में उसने बताया कि वह नीट की तैयारी कर, उसमें सफलता अर्जित कर चिकित्सा जगत में जाना पसंद करती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!