Breaking News

तेज रफ्तार अज्ञात वाहन से कुचलकर मोहम्मद एहसान की दर्दनाक मौत,गम की लहर

  • घटना के 24 घंटे बाद भी नहीं मिला सरकारी मुआवजा, न ही पहुंचे कोई भी प्रतिनिधि,पदाधिकारी 
  • सैंकड़ो नमदीदा लोगों ने किया सुपुर्द ए खाक

वैशाली
 
जरत जन्दाहा(वैशाली)विद्यालय से लौट रहे मासूम छात्र मोहम्मद एहसान(8 साल लगभग)को तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने कुचल दिया।वाहन लेकर चालक फरार हो गया।घटना सबसे व्यस्त एन एच 322 की है।जन्दाहा बाजार स्थित बी एस एन एल एक्सचेंज आफिस के निकट सरकारी विद्यालय में पढ़ाई कर लौट रहा था तभी तेज रफ्तार अज्ञात वाहन उसे जबरदस्त तौर से कुचलकर फरार हो गया।स्थानीय लोगों की नजर उस पर पड़ी तो लोगों ने घर वाले को सूचित किया।घर वाले उसे स्थानीय सरकारी अस्पताल ले गए जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे हाजीपुर सदर अस्पताल भेजा गया।सदर अस्पताल हाजीपुर से भी नाजुक हालत देख उसे पीएमसीएच पटना भेजा।जहां पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।यह खबर जन्दाहा बाजार में जंगल की आग की तरह फैल गई और हर उम्र के लोग बच्चे की आखरी दीदार को उसके घर पर उमड़ पड़े।मृतक मोहम्मद एहसान स्थानीय बाजार निवासी विडियो कैमरा मैन मोहम्मद चांद का बेटा है।जिनके पास अब एक बेटा और एक बेटी है।मां बाप समेत दादी,चाचा व रिश्तेदार सभी गमजदा हैं और रो रो कर सभी निढाल हैं।मृतक मोहम्मद एहसान के विद्यालय में भी गम छाया रहा और शोक मनाया गया।शिक्षक के मुताबिक अभी इसका नाम लिखा हुआ नहीं था लेकिन यह रोजाना विद्यालय जाता था।मासूम छात्र की मौत की खबर सुनकर विद्यालय के बच्चे,शिक्षक,शिक्षिका गमजदा परिवार से मिलने पहुंचे और शोक व्यक्त कर सब्र करने को कहा।वहीं यह भी अफसोस की बात है कि घटना के 24 घंटे के बाद भी स्थानीय पंचायत प्रतिनिधि,सरकारी अधिकारी कोई भी मृतक के घर पर नहीं पहुंचे और न ही अभी तक सरकारी मुआवजे की रकम भी।मृतक का नमाज ए जनाजा जुमा की नमाज से पहले सुबह दस बजे स्थानीय ईदगाह में कारी नूर ए नबी ने पढ़ाई और सैंकड़ो लोगों ने नमदीदा हो सुपुर्द ए खाक कर दुआ ए मगफिरत किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!