Breaking News

अतिक्रमणमुक्त कराने गए महनार के अंचलाधिकारी रमेश प्रसाद सिंह को लोगों का जबरदस्त झेलना पड़ा आक्रोश


रिपोर्ट नवीन कुमार सिंह

वैशाली सहदेई बुजुर्ग/महनार - महनार स्टेशन रोड में सुरहा के निकट सड़क किनारे की सरकारी भूमि को अतिक्रमणमुक्त कराने गए महनार के अंचलाधिकारी रमेश प्रसाद सिंह को लोगों का जबरदस्त आक्रोश झेलना पड़ा।आक्रोशित लोगों ने स्टेशन रोड को जाम कर प्रदर्शन भी किया।

गुरुवार को अंचलाधिकारी रमेश प्रसाद सिंह पुलिस बलों के साथ महनार स्टेशन मार्ग पर सुरहा टोला के पास पीडब्ल्यूडी की सड़क के किनारे बड़ी संख्या में बनाई गई झोपड़ी को हटाने पहुंचे थे।इन झोपड़ियों में दलित समुदाय के लोग जीवन बसर कर रहे हैं।अंचलाधिकारी ने उक्त भूमि की मापी करवा कर संबंधित लोगों को नोटिस जारी कर उक्त भूमि पर से अपना-अपना झोपड़ी हटाने को कहा था।लोगों द्वारा झोपड़ी नहीं हटाए जाने के बाद गुरुवार को पुलिस बल के साथ अंचलाधिकारी स्थल पर पहुंचे।जिसके बाद भारी संख्या में महिलाएं झाड़ू,लाठी आदि लेकर सीओ पर हमला बोल दिया।आक्रोशित भीड़ ने सीओ के साथ धक्का-मुक्की एवं गाली गलौज करते हुय महनार स्टेशन मुख्य मार्ग को जाम कर दिया।लगभग एक घंटा तक उक्त मार्ग पर भारी जाम लगा रहा।जिससे आने जाने वाले आम लोगों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ा।आक्रोशित लोगों का आरोप था कि किसी व्यक्ति विशेष के कहने पर सीओ ने उन लोगों को तंग कर रहे हैं।इस बीच महनार डीएसपी एसके पंजियार,थाना अध्यक्ष अंजनी कुमार सिंह मौके पर पहुंच कर स्थानीय लोगों से बात कर सड़क को जाम से मुक्त कराया।स्थानीय लोगों ने मौके पर डीएसपी से कहा कि वे लोग दलित समुदाय के गरीब लोग हैं।उनके रहने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है।अगर सरकार के द्वारा उन्हें रहने के लिए अलग भूमि उपलब्ध कराया जाता है तो वह लोग उक्त जमीन को खाली कर देंगे।वही इस संबंध में अंचलाधिकारी रमेश प्रसाद सिंह ने कहा कि स्टेशन रोड में पीडब्लूडी एवं बिहार सरकार की भूमि को अतिक्रमण कर काफी संख्या में लोग झोपड़ी बना लिए हैं।जिसे वह हटाने गए थे।स्थानीय महिला व पुरुषों द्वारा उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया तथा सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न किया गया।इस संबंध में उन्होंने कहा कि उनके द्वारा वरीय अधिकारियों को जानकारी दे दी गई है।इसके साथ-साथ गुरुवार को ही महनार अंचलाधिकारी रमेश प्रसाद सिंह द्वारा सिपाही टोला निवासी रंजीत कुमार साह का मकान जो अतिक्रमण कर सड़क की जमीन में बनाया गया था।उसे अतिक्रमण से मुक्त कराया गया।इस सम्बंध में रणजीत कुमार ने सीओ पर जाती विशेष के प्रभाव में आकर गलत ढंग से कार्रवाई करने का आरोप लगया।जबकि सीओ ने उक्त आरोप को खारिज करते हुए कहा कि 4 डिसमिल सड़क की भूमि को अतिक्रमन कर घर बनाया गया था उसे अतिक्रमण से मुक्त कराया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!