Breaking News

दर्जनों हाथी घोड़े एवं गाजे बाजे के साथ भव्य कलश एवं शोभायात्रा 1051 कन्याओं के द्वारा निकाली गई।


वैशाली:
पातेपुर प्रखंड क्षेत्र के लदहो भुसाही गांव स्थित श्रीराम जानकी मठ परिसर में आयोजित श्री श्री 1008 अष्टयाम महायज्ञ को लेकर दर्जनों हाथी घोड़े एवं गाजे बाजे के साथ भव्य कलश एवं शोभायात्रा 1051 कन्याओं के द्वारा निकाली गई।

श्रीराम जानकी मठ लदहो भुसाही के महंथ बाबा राघव दास जी के द्वारा आयोजित अष्टयाम महायज्ञ को लेकर निकाली गई कलश यात्रा में जल भड़ी को लेकर गुरुवार की सुबह कन्याएं गाजे बाजे के साथ सरैया घाट स्थित नुन नदी संगम पहुंची जहां आचार्यों पंडितों के द्वारा मंत्रोच्चारण के बाद कलश में जल भड़ी कर कन्याएं 12 किलोमीटर से अधिक दुरी तय कर राम जानकी मठ परिसर स्थित यज्ञ मंडप पहुंच  जहां मंत्रोच्चारण के बाद यज्ञ मंडप में कलश स्थापित किया गया। कलशयात्रा के दौरान यज्ञ के आयोजक महंथ बाबा राघव दास, मुखिया गरीबनाथ आलोक, किशोरी देवी,राम एकबाल चौरसिया, पुर्व जिला पार्षद सदस्य तारक चौधरी, विवेक कुमार , राजेश पासवान, संतोष साह, सिंह, मनीष कुमार,छोटु कुमार ठाकुर, गोविंद कुमार ठाकुर,टुन टुन झा,अकलु मांझी, रंजीत मांझी, अरुण मांझी, संजय पासवान, उप मुखिया शिवचंद्र कुमार राय, सुंदरेश्वर राय, राजु कुमार, संजीत मांझी,कनाहाई मांझी,छेदी मांझी, मनोज राय,प्रमीला देवी, नीरज कुमार , आदि गणमान्य लोग के साथ ही लदहो भुसाही गांव के लोग भारी संख्या में कलशयात्रा के दौरान विधी व्यवस्था बनाए रखने के लिए तत्पर थे। कलशयात्रा समापन के बाद गुरुवार की शाम सत्यनारायण भगवान की पूजा एवं शुक्रवार सुबह से अष्टयाम प्रारम्भ होगा शनिवार को अषटयाम के समापन पर शनिवार की रात राम विवाह किर्तन का आयोजन किया जाएगा। अष्टयाम महायज्ञ एवं कलशयात्रा को लेकर लदहो भुसाही गांव के साथ ही आस पास का दर्जनों गांवों भी भक्तीमय हो चुका है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!