Breaking News

दभइच राजकीय मध्य विद्यालय में कमरों के अभाव उसमे एक दूसरे विद्यालय को टैग किये जाने से छात्र छात्राओं को पढ़ाई हो रही बाधित.

 


पातेपुर नागेन्द्र कुमार की रिपोर्ट

पातेपुर प्रखण्ड के महुआ ताजपुर मार्ग के दभइच राजकीय मध्य विद्यालय में कमरों के अभाव उसमे एक दूसरे विद्यालय को टैग किये जाने से छात्र छात्राओं को पढ़ाई हो रही बाधित.

प्राप्त जानकारी के अनुसार महुआ ताजपुर मार्ग में अवस्थित राजकीय मध्य विद्यालय जिसमें पूर्व से ही जमीन नही है मात्र आठ वर्ग कक्ष है इस विद्यालय में 870 नामांकित छात्र छात्र है जिनके पठन पाठन का अभाव है किंतु उस विद्यालय में एक और नव सृजित प्राथमिक विद्यालय मुसहरी टोला सामुदायिक भवन में चल रहा था उस विद्यालय को भी मध्य विद्यालय में में टैग किये जाने से बच्चों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है.चार से पांच बर्ष पूर्व इंदिरा आवास कालोनी मुसहरी टोला के विद्यालय को एक किलोमीटर से अधिक दूरी तय करके आना पड़ता है.सड़क पार करने के समस्या के साथ मध्य विद्यालय का जगह के साथ प्रार्थना करने का जगह नही है .इस विद्यालय से नव सृजित विद्यालय को अलग करने की मांग पूर्व प्रधानाध्यपिका कुमारी उषा सिन्हा एवम पूर्व प्रधनाध्यपक अवधेश कुमार झा के समय मे विद्यालय के पूर्व शिक्षा समिति सचिव किरण देवी ने बैठक में कमरों की समस्या ,छात्र छात्राओं की समस्या को देखते हुए प्रस्ताव लिया गया था कि नव सृजित विद्यालय को या तो पूर्व स्थल पर भेजा जाए या उस विद्यालय के छात्र छात्राओं के लिए कमरों का व्यवस्था किया जाय.नव सृजित प्राथमिक विद्यालय आठ शिक्षक है जबकि मध्य विद्यालय में 20 से अधिक शिक्षक मात्रा आठ कमरा में एक ऑफिस है.विद्यालय के वर्तमान प्रधनाध्यपक अशीत चंद झा का कहना है कि विद्यालय में समस्या है किंतु हम इस संबंध में कुछ नही बता सकते क्योंकि शिक्षा विभाग से चिट्टी है कि मीडिया को कुछ नही बताना है.वही इंदिरा आवास विद्यालय के प्रधनाध्यपक युगेश्वर राम ने बताया कि मुझे सरकार द्वारा जो जगह दिया जायेगा चले जायेंगे.तत्काल शिक्षा विभाग के आदेश पर दोनों विद्यालय के बच्चों को सम्मलित रूप से पढ़ाया जाता है.विद्यालय में जगह के अभाव से विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक में भारी आक्रोश देखी जा रही हैं

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!