Breaking News

चुनावों में लगी बसों का खर्चा 4.06 करोड़ रुपए: रोडवेज विभाग


यूपी हापुड़ से विशू अग्रवाल की रिपोर्ट

प्रदेश  विधानसभा  चुनाव 2022 के संपन्न होने के बाद उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के करोड़ों रुपए चुनाव आयोग पर बकाया हैं। जिसके लिए गढ़मुक्तेश्वर डिपो के द्वारा मांग पत्र आयोग को प्रेषित किया गया है। डिपो के एआरएम रणजीत कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि आयोग को बिल बनाकर लखनऊ भिजवा दिया गया है। जल्द ही भुगतान मिलने की संभावना है। बताते चलें तीर्थ नगरी गढ़मुक्तेश्वर डिपो से 82 बसें यात्रियों की सुविधा के लिए संचालित की जाती है, प्रदेश में हुए 7 चरणों के चुनाव सकुशल संपन्न कराने के लिए 48 बसों को चुनावी ड्यूटी में लगाया गया। जिसे विभाग ने आयोग के निर्देश पर भेज दिया। चुनावी ड्यूटी में आधी से ज्यादा बसों के लगने के कारण यात्रियों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी। जिसका फायदा अमावस्या व पूर्णिमा पर्व पर बृजघाट गंगा तट पर आने वाले श्रद्धालुओं से डग्गामार बसों ने उठाया। डिपों की शेष 34 बस यात्रियों के लिए संचालित हुई। चुनाव ड्यूटी में लगी 48 बसे मतगणना समाप्त होने के बाद 16 मार्च को डिपो में लौट आई। रोडवेज के अधिकारियों ने लगभग सवा महीने चुनावों में लगी बसों का 4.06 करोड़ रुपए का बिल तैयार किया है। एआरएम ने बताया कि विभाग द्वारा तैयार बिल आयोग को भेजा गया है। इसी प्रकार हापुड़ डिपो के एआरएम संदीप नायक ने बताया कि विधानसभा चुनाव के समय ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले 11 परिचालकों की सेवा समाप्त की गई है। इन लापरवाह परिचालको के कारण डिपो की बसों का संचालन प्रभावित हुआ था। यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी वहीं डिपो को राजस्व की हानि भी उठानी पड़ी। पूर्व में उक्त सभी परिचालकों को समय-समय पर नोटिस जारी किए गए थे ना मानने पर सेवा समाप्त कर मुख्यालय को रिपोर्ट भेज दी गई।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!