Breaking News

पातेपुर श्रीरामजानकी मठ में भव्य रामनवमी महोत्सव की तैयारी पूर्ण


वैशाली:
पातेपुर स्थित प्राचीन श्रीरामजानकी मठ से रामनवमी के दिन निकलने वाली शोभायात्रा इस बार कुछ खास होगा। इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। महंत बाबा विश्वमोहन दास जी महराज के नेतृत्व में शोभायात्रा को खास बनाने के लिए वृहत तयारी की गई है। 

शुरू हो चुका है अनुष्ठान

शुक्रवार की रात से ही श्रीराम जन्मोत्सव का अनुष्ठान शुरू हो गया है। यह देर रात तक चलेगा। तदुपरांत 24 घँटे का रामधुन अष्टयाम होगा जिसका समापन रामनवमी दिन हो जाएगा। भगवान के प्रकटीकरण के वैदिक विधान पूरा होने के साथ ही भए प्रगट कृपाला दीन दयाला कौशल्या हितकारी आरती छंद गाकर, भगवान के अलौकिक रूप के दर्शन के लिए उपस्थित सैंकड़ो श्रद्धालु स्तुति करेंगे। भगवान के जन्म संस्कार के बाद सुबह से वैदिक विधि विधान से पूजा अनुष्ठान शुरू हो जाएगा। 

 सजधज के निकलेगी विशाल शोभा यात्रा 

 दर्जनों की संख्या में बैंडबाजा, ऑर्केस्ट्रा मंडली, हाथी- घोड़े के साथ स्थान से रविवार की सुबह नौ बजे शोभा यात्रा निकलेगी। स्थान के संरक्षक बड़े महंत श्रीकांत शरण दास, महंत विश्वमोहन दास, अयोध्या हनुमान गढ़ी व सुदूर धर्म क्षेत्रों से पधार रहे महा मंडलेश्वर, संत-साधुओं की उपस्थिति में भगवान की पालकी कंधे पर उठाकर यात्रा शुरू करेंगे। स्थान से शुरू शोभा यात्रा में हजारों लोग जुड़ेंगे। बाजार स्थित श्री राम-जानकीपुरम मंदिर पर पहुंचकर शोभा यात्रा का समापन होगा। फिर वैदिक मंत्रोच्चार से भगवान का अधिवास कराया जाएगा। पांच दिन बाद छठी दिन ऐसे ही सजधजकर यहां से प्रधान मंदिर में भगवान को ले जाया जाएगा। छठे दिन छठी का भव्य आयोजन होगा।

 शोभायात्रा के साथ रामनवमी मेला प्रारंभ

शोभायात्रा, प्रभु के अधिवास अनुष्ठान के साथ ही श्रीरामचंद्र प्लस टू स्कूल के पीछे ग्राउंड में एक माह तक चलने वाला रामनवमी मेला प्रारंभ हो जाएगा। मेला कैम्प्स में दर्जनों दुकानें सज चुकी है। लकड़ी, खेल-तमाशा, झूले, प्रसाद, मिठाइयों की दुकानें करीने से सज चुकी है।

शोभायात्रा के प्रतिभागी होंगे पुरस्कृत

बता दें कि विशाल शोभायात्रा में विभिन्न श्रेणियों के बैंड-बाजा, आरकरेस्ट्रा मंडली शामिल होते हैं। शोभायात्रा के समापन के तत्काल बाद ही हाई स्कूल मैदान में प्रतिभागी घुड़सवारों, बैंड बाजा, आर्केस्ट्रा मंडली के बीच प्रतियोगिता कराया जाता है। प्रतियोगिता जीतने वाले को पुरस्कृत किया जाएगा। बताते चलें कि बिहार में हाजीपुर का महाशिवरात्रि महोत्सव के बाद पातेपुर का रामनवमी महोत्सव सबसे बड़ा आयोजन है। रामनवमी जुलूस देखने के लिए पातेपुर प्रखंड के अलावा पड़ोसी कई जिलों के दस से पंद्रह हजार श्रद्धालु जुटते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!