Breaking News

स्मृतिशेष पूर्व प्रधानाध्यापक राम बाबू राय की मनाई गई सातवीं पुण्यतिथि


वैशाली:
बिदुपुर प्रखण्ड के नावानगर पंचायत अन्तर्गत बिहवारपुर गांव निवासी शिक्षाविद समाजसेवी पूर्व प्रधानाध्यापक स्मृतिशेष रामबाबू राय का सातवीं पुण्यतिथि समारोह का आयोजन उनके परिवार जनों के द्वारा एक सादे समरोह के तौर पर मनाया गया ! स्वर्गीय राय सिर्फ़ एक शिक्षक ही नहीं बल्कि एक अच्छे समाजसेवी भी थे ! उन्होंने ही शिक्षकों के संगठन गोपगुट की नीव रखी थी जो आज सबसे सशक्त संगठन के रुप में जानी जाती है ! स्वर्गीय राय समाज के सच्चे हितैसी रहे हैं उन्होंने जरूरतमंदों को हर सम्भव मदद करते रहें ! उनकी जीवन बहुत ही संघर्षों से भरा रहा है वह अपने पीछे पत्नी सुन्दर पति देवी, दो पुत्र, दो पुत्री और दर्जनों पोता पोतियां, नाती नातिन से भरा पूरा परिवार छोड़ कर आज ही के दिन वर्ष दो हज़ार पन्द्रह को इस दुनियां को अलविदा कह चले गए ! बड़े बेटे कामेश्वर प्रसाद नावानगर ग्राम कचहरी के दो बार सरपंच रह चुके हैं और छोटे बेटे राजेश्वर प्रसाद मुकेश जनता दल यूनाईटेड बिदुपुर के प्रखण्ड अध्यक्ष पद पर लगातार तीन बार से आसीन हैं ! बड़ी बेटी मीना राय गृहिणी है जबकि बड़े दामाद सतीश चन्द्र राय अभियंता से सेवानिवृत है, छोटी बेटी गायत्री राय गृहणी है जबकि छोटे दामाद बी एन राय, सी सी एल झारखंड के सीनियर मैनेजर के पद से सेवानिवृत है ! स्वर्गीय राय की बड़ी बहू कुमारी वीरमति सिन्हा सरकारी विद्यालय की शिक्षिका है जबकि छोटी बहु सरिता कुमारी अपनी ही निजी विद्यालय की प्राचार्या है ! पांच पोतों में तीन में से दो सरकारी नौकरी क्रमश अविनाश सी आई एस एफ में और अभिषेक बी एस एफ में देश की सेवा में लगे हुए हैं जबकि अजीत निजी कंपनी में कार्यरत है जबकि दो छोटे पोता शुभम और अभिनव अभी पढ़ाई कर रहा है ! नाती और नातिन भी सभी डॉक्टर इंजीनियर पद पर है ! उनकी शिक्षा की प्रति उपलब्धता का नतीजा है कि पूरा परिवार शिक्षा के क्षेत्र में अपनी अपनी अपनी प्रतिभा के अनुसार इस मुकाम पर पहुंचा है ! स्वर्गीय राय के तैलचित्र पर सभी उपस्थित परिवार जनों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दिया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!