Breaking News

भारत की अर्थव्यवस्था को ऊंचा उठाने के लिए पंचगवय चिकित्सा जरूरी


यूपी हापुड से विशू अग्रवाल की रिपोर्ट

कांचीपुरम, तमिलनाडु के उपकुलपति, वरिष्ठ आई ए एस डाo कमल टावरी ने ए टी एम एस कालेज में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस देश को पुनः विश्व गुरु बनाने के लिए भारतीय जीवन मूल्यों को पुनः स्थापित करना होगा। देशी गाय व उसके उत्पादों का विस्तार, आयुवेद को बढावा, योग प्राणायाम, प्राकृतिक जीवन शैली को अपनाकर ही विश्व में सुख शांति आ सकती हैं। पचगवय में गाय घृत, गाय दुग्ध, गाय दही ,गाय गोबर, गोमुत्र शामिल हैं। यह विश्व विद्यालय देश के सभी जनपदों मे इसके केंद्र बना रहा है। पचगवय चिकित्सा से भारत की अर्थव्यवस्था को ऊंचा उठाना, गाँवों से पलायन रोकना, युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना है। समाज के लिए कार्य करने वाले प्राणवानो की तलाश कर उन्हें कार्य से जोड़ा जाए। अच्छे कार्य करने वालो को सम्मानित किया जाए जिससे अन्य लोगों को भी अच्छा कार्य करने की प्रेरणा मिले। समारोह की अध्यक्षता कालेज के चेयरमैन नरेन्द्र अग्रवाल ने की तथा संचालन प्रोफेसर राकेश अग्रवाल ने किया। डॉoकमल टावरी के साथ मच पर विगत 30वर्षों से जुड़े एस वी इंटर कालेज के सेवानिवृत्त वाणिज्य प्रवक्ता सुरेश चन्द्र जैन, पंचायती गौशाला के मंत्री सुरेश गुप्ता ठेकेदार रहे। कालेज सचिव रजत अग्रवाल, त्रिलोक सिंघल, बिजेनदर गर्ग, रामकिशन सिंघल, सतीश गोयल, रजत सिंघल, पूनम गुप्ता सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!