Breaking News

पातेपुर के प्राचीन श्रीराम-जानकी स्थान से निकली भव्य व विहंगम रामनवमी जुलूस


वैशाली पातेपुर से मोहम्मद एहतेशाम पप्पु की रिपोर्ट

पातेपुर के अतिप्राचीन श्रीराम-जानकी मंदिर से रामनवमी पर रविवार को भव्‍य व विशाल शोभा यात्रा निकाली गई। भगवान का जन्‍म महोत्‍सव देखने के लिए प्रखंड व आसपास के गांवों से भारी संख्‍या में भक्‍त-श्रद्धालु शनिवार से ही स्थान पर जमे हुए थे।

मन्दिर से सज-धज कर निकली भगवान की पालकी

रविवार को मंदिर परिसर से भव्‍य शोभा यात्रा निकाली गई। इससे पहले मठ के महंत श्रीकांत शरण दास, छोटे महंथ बाबा विश्‍वमोहन दास के मंगलानुशासन में मंदिर के आचार्य व विद्वत पुरोहितों ने वैदिक मंत्रोच्‍चार के साथ विविधोपचार विशेष पूजा-अर्चना की। जन्‍मोत्‍सव का अनुष्‍ठान संपन्‍न होने के बाद गाजा-बाजा, हांथी-घोडा के साथ शोभा यात्रा निकाली गई। महंत श्रीकांत शरण दास, महंथ बाबा विश्‍वमोहन दास व मंदिर के आचार्य पालकी अपने कंधे पर उठाए हुए थे। आगे-आगे हाथी, घोडा, उंट उसके पीछे दर्जनों बैंड, आर्केस्‍ट्रा व बीच में भगवान की पालकी त‍था पीछे हजारों की संख्‍या में श्रद्धालु नर-नारी जयकारा लगाते चल रहे थे।

एक किलोमीटर लंबी शोभायात्रा

श्रीराम-जानकी मठ के सिंहद्वार से निकलकर शोभा यात्रा जैसे ही रोड पर आया विशाल जन सैलाब  शोभा यात्रा में शामिल हो गए। भीड का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि स्‍थान से बाजार स्थित रामजानकी मंदिर की एक किलोमीटर दूरी तय करने में तीन घंटे से अधिक का समय लगा। पातेपुर बाजार स्थित श्री रामानंदपुरी मंदिर में पालकी आने के बाद वैदिक अनुष्‍ठान शुरू हुआ। पूजा-अर्चना के बाद भगवान को अधिवास कराया गया। रामनवमी दिन से अगले छह दिनों तक भगवान यहां अधिवास करेंगे। छठे दिन यहां भगवान राम चारों भाईयों की छठी महोत्‍सव इसी तरह धूमधाम से मनाया जाएगा। शोभा यात्रा के दौरान पातेपुर पुलिस मुस्‍तैद थी। आयोजन में प्रमुख रेणु देवी, व्यापार मंडल अध्यक्ष गणेश राय, जग्गनाथ चौधरी, विजय झा, पूर्व मुखिया महेश सिंह, देवेंद्र राय, राजकुमार सिंह, लक्ष्मण सिंह, अमित कुमार उर्फ नटवर, प्रवीण कुमार, पैक्स अध्यक्ष अनिल सिंह व सनोज पासवान, मोहम्मद छोटे, शिवशंकर साह, कुंदन शर्मा,‌‌अरविंद कुमार राय, मुन्ना सिंह शिक्षक, वैद्यनाथ पासवान, बडी संख्‍या में गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।

महोत्‍सव का सैंकडों वर्ष पुराना इतिहास

पातेपुर स्थित श्रीराम जानकी मठ सैंकडों वर्ष पुराना है। जिले के समृद्ध मंदिरों में से यह एक है। मंदिर में भगवान राम, लक्ष्‍मण, जगत जननी मां जानकी व भक्‍त वीर हनुमान की स्‍वप्रादूर्भूत भव्‍य विग्रह है। यह मंदिर न केवल सनातन धर्मावलंबी बल्कि रामानंदी संप्रदाय के संत-साधुओं के लिए तीर्थस्‍थल, महाधाम से कम नहीं है। खास कर रामनवमी व श्रीकृष्‍ण जन्‍मोत्‍सव धूमधाम से मनाया जाता है। 

पातेपुर में शुरू हुआ रामनवमी मेला

भगवान राम जन्‍म महोत्‍सव के साथ ही पातेपुर बाजार स्थित रामजानकी मंदिर परिसर में लगने वाला एक माह का रामनवमी मेला शुरू हो गया है। मेला में सैंकडों दूकानें लग गई है। खास तौर पर लकडी, फर्नीचर, मनिहारी, हरेक माल की दर्जनों दुकानें, स्टॉल लग गई है। प्रचंड गर्मी के बावजूद मेला देखने के लिए श्रद्धालुओं की भीड उमड पडी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!