Breaking News

अवैध ईंट भट्टा खत्म कर रहे नदी के तटों का अस्तित्व

 संवाददाता ब्यूरो चीफ नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट

कार्रवाई नहीं होने से लगातार जारी है अवैध खनन

चंदौली जिले चकिया तहसील अंतर्गत कई स्थानों पर अवैध रूप से ईंट भट्टों का व्यवसाय किया जा रहा है। बता दें कि यह भट्टे न केवल पर्यावरण प्रदूषित कर रहे है, बल्कि इससे मिट्टी का अवैध उत्खनन भी हो रहा है। जहां भट्टे हैं वहां आसपास रहने वाले लोग भी धुआं निकलने के कारण काफी परेशान होते हैं। दरअसल इसका शिकायत यहां के आसपास के रहने वाले किसी अधिकारी के पास शिकायत दर्ज करने के लिए जाते हैं तो यहां के लोगों को माफिया के द्वारा डराया धमकाया जाता है यहां के अधिकारी भी चुप्पी साधे बैठे हुए हैं बताते चलें कि इधर जिम्मेदार इस तरफ कोई ध्यान नही देते और लगातार इन ईंट भट्टों की संख्या बढ़ती जा रही हैं। चकिया तहसील क्षेत्र के बरहुआ आदि ग्रामों में जमकर ईंट भट्टा लगाए जा रहे हैं। ईंट, भट्टे का निर्माण कार्य बहुत समय से चल रहा है। जिसके कारण से मिट्टी का बहुत मात्रा में कटाव हो रहा है। ईट भट्टे को पकाने के लिए आग जलाई जाती है जिससे ऊठने वाला जहरीला धुएं से गांव का वातावरण भी दूषित हो रहा है। यहां जानना जरूरी होगा कि भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26 के तहत अवैध रूप से ईंट भट्टे लगाना गंभीर अपराध है तथा भू-राजस्व संहिता का भी उल्लंघन है।



कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!