Breaking News

दफ्तर की व्यवस्था करने का दिया गया निर्देश: डीएम जमुई

 


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

जमुई समेत 24 जिलों में खनन विभाग का जल्द ही अपना दफ्तर होगा। अभी इन जिलों में किराये के मकान में जिला और अंचल कार्यालय चल रहा है। इसे लेकर खनन विभाग के निदेशक गोपाल मीणा ने संबंधित जिलों को पत्र भेज दफ्तर की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। डीएम अवनीश कुमार सिंह ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि समाहरणालय और वर्तमान में संचालित खनन विभाग के कार्यालय के बीच की दूरी अधिक रहने से समाहर्ता नजर नहीं रख पा रहे हैं। जमुई में अभी खनन विभाग का कार्यालय एक निजी भवन में चल रहा है। इसके लिए प्रतिमाह विभाग द्वारा खासा किराया भी दिया जा रहा है। जमुई जिला राजस्व मामले में अव्वल है। बीते वित्तीय वर्ष में विभागीय लक्ष्य से काफी ज्यादा राजस्व की वसूली कर रिकॉर्ड भी बनाया गया है। डीएम ने निदेशक के पत्र के आलोक में सामान्य शाखा को व्यवस्था देखने को कहा है। सामान्य शाखा समाहरणालय के समीप तीन कमरे के खाली भवन की तलाश में है, ताकि उसमें खनन विभाग को शिफ्ट किया जा सके। साथ ही समाहरणालय परिसर के आसपास वैसी खाली जमीन भी ढूंढ़ी जा रही है। जहां मकान बनाया जा सके। जमीन की तलाश पूरी होने के बाद विभाग से भवन निर्माण के लिए आवंटन मांगा जाएगा। नये भवन में खनन विभाग से जुड़े तमाम काम के लिए काउंटर की व्यवस्था भी की जाएगी और संयुक्त आयुक्त या उप सचिव स्तर के अधिकारियों की तैनाती भी की जा सकेगी। उधर खनन विभाग के निदेशक ने जमुई के अलावा भागलपुर, कटिहार, मुंगेर, पूर्णिया, सहरसा, पटना, औरंगाबाद, बेगूसराय, बेतिया, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, गया, गोपालगंज, जहानाबाद, कैमूर, मधुबनी, नालंदा, रोहतास, समस्तीपुर, सीतामढ़ी, वैशाली और मुजफ्फरपुर में तुरंत व्यवस्था करने के लिए संबंधित जिलों के समाहर्ता को कहा है। यहां खनन विभाग से जुड़े काम के लिए ईंट - भट्ठा संचालकों, नई परियोजना के लिए ठेका एजेंसियों से लेकर पंचायती राज संस्थाओं को एनओसी आदि लेने में आसानी होगी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!