Breaking News

महाविद्यालय के आदेशपाल एवं चालक के आकस्मिक निधन पर महाविद्यालय प्रशासन में शोक की लहर


रोहतास बिक्रमगंज संवाददाता राजू रंजन दुबे की रिपोर्ट

बिक्रमगंज/रोहतास । स्थानीय वीर कुंवर सिंह महाविद्यालय धारूपुर बिक्रमगंज के आदेशपाल विश्वनाथ मेहता एवं महाविद्यालय परिवार के चालक उपेंद्र गिरी के आकस्मिक निधन से सभी शिक्षक एवं कर्मचारियों में शोक की लहर छाई हुई है ।आदेशपाल विश्वनाथ मेहता का निधन विगत 30 अप्रैल को एवं चालक उपेंद्र गिरी का निधन 3 मई को आकस्मिक रूप से हो गया । जिसके कारण महाविद्यालय परिसर में दो मिनट का मौन रखकर शोक सभा का आयोजन किया गया । शोक सभा में उपस्थित वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय आरा के सीनेट सदस्य एवं भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश महामंत्री डॉ मनीष रंजन ने कहा कि विश्वनाथ मेहता महाविद्यालय के स्थापना काल से जुड़े हुए थे । उनका योगदान महाविद्यालय में सबसे ज्यादा रहा है । डॉ रंजन ने कहा कि उपेंद्र गिरी महाविद्यालय परिवार के विगत 30 वर्षों से चालक रहे थे । उपेंद्र गिरी अपने पीछे पत्नी एवं तीन पुत्रियों को छोड़ गए हैं, जिनका दायित्व डॉ रंजन ने स्वीकार किया है । इन दो कर्मचारियों का निधन महाविद्यालय के लिए एक अपूरणीय क्षति है । इनके परिवार के साथ हमेशा महाविद्यालय परिवार खड़ा रहेगा । शोक सभा में महाविद्यालय के सचिव लाल बिहारी सिंह, ललन चौरसिया, उपाध्यक्ष सुनील सिंह,प्रभारी प्राचार्य डॉ सुरेंद्र कुमार सिंह, मदन प्रसाद वैश्य , मुन्ना पांडेय,प्रो बीर बहादुर सिंह, प्रो उमाशंकर सिंह,प्रो शिवकुमार सिंह, प्रो अखिलेश सिंह, प्रो विजय सिंह, प्रो ज्ञान प्रकाश सिन्हा, प्रो ब्रजकिशोर सिंह, प्रो अनील सिंह, प्रो अजय सिंह, प्रो दिनेश कुमार, प्रो कुमार विवेक, प्रो बलवंत सिंह, अभय कुमार सिंह, रोहित कुमार तिवारी, अजय मिश्रा, राजेश्वर सिंह,मंटू कुमार चौधरी आदि लोग उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!