Breaking News

महिला ने की अपने चार बच्चों संग जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त


वैशाली:
पातेपुर के थाना क्षेत्र के हरलोचनपुर सुक्की गांव में पारिवारिक कलह से तंग आकर एक महिला ने अपने चार बच्चों संग जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई। लोगो ने घटना की जानकारी पातेपुर थाने की पुलिस को दिया। जानकारी मिलते ही थाने एस आई रामशंकर कुमार भारी संख्या में पुलिस बल के जवानों के साथ मौके पर पहुंच कर मामले की गहन पड़ताल की।

मिली  जानकारी के अनुसार पातेपुर थाना क्षेत्र के हरलोचनपुर सुक्की गांव में शुक्रवार की अहले सुबह उस समय अफरा तफरी का माहौल कायम हो गया जब लोगो को पता चला कि सुक्की गांव निवासी रंजीत सहनी की पत्नी रिंकू देवी एवं उसके चार बच्चे की मौत जहर खाने से हो गई। स्थानीय लोगो के अनुसार रंजीत सहनी की पत्नी रिंकू देवी की उसके पति के साथ गुरुवार की रात पारिवारिक विवाद को लेकर नोकझोंक हुई थी। रंजीत सहनी घर के पास स्थित लीची के बगीचे की रखवाली करता है। देर रात वह नोंकझोंक के बाद लीची के बगीचे में रखवाली करने चला गया था। पति के जाने के बाद महिला रिंकू देवी ने अपने 12 वर्षीय पुत्र करन कुमार, 10 वर्षीय पुत्री शिवानी कुमारी,साढ़े तीन वर्षीय पुत्री सलोनी कुमारी एवं दो वर्षीय पुत्री संध्या कुमारी को चीनी के शर्बत में सल्फॉस मिलाकर पिलाते हुए स्वयं भी पी ली। जहर पीने के बाद महिला का पुत्र करण कुमार देर रात ही भागकर अपने दादी के पास जाकर सभी को उल्टी होने की बात बताया। जिसपर लड़के की दादी जब घर मे घुसकर देखी तो शोर मचाना शुरू किया। जिसपर आसपास के लोगो ने आनन फानन में सभी को लेकर पातेपुर के किसी निजी अस्पताल लेकर गए जहां चिकित्सकों ने गंभीर स्थिति को देखते हुए महुआ रेफर कर दिया। परिजन सभी को लेकर महुआ के एक निजी अस्पताल में गए जहां चिकित्सकों ने जांच के बाद चार को मृत घोषित कर दिया। वही एक पुत्री सलोनी कुमारी का ईलाज शुरू किया परंतु कुछ ही देर ईलाज के बाद उसकी भी मौत ईलाज के क्रम में ही हो गई। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई।सभी शव का दाह संस्कार आपसी समझौते के बाद किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!