Breaking News

रालोजपा जिला कार्यसमिति की बैठक में उठे कई सवाल


वैशाली: 
कार्यकर्ताओं ने नेताओं द्वारा तरजीह नहीं देने और उन्हें नजरअंदाज करने का लगाया आरोप, पिछले एमएलसी चुनाव में तरजीह नहीं मिलने पर जमकर निकाली भड़ास, बैठक में कार्यकर्ताओं ने अपनी सीधी पहचान राष्ट्रीय अध्यक्ष से बनाने को लेकर मिलने का लिया निर्णय

 राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के जिला कार्यकारिणी समिति की बैठक रविवार को यहां जवाहर चौक स्थित गुरुकुल एकेडमी पर हुई। यह बैठक काफी हंगामेदार रही। यहां विभिन्न प्रखंडों से आए कार्यकर्ताओं ने पार्टी के नेताओं द्वारा उन्हें तरजीह नहीं दिए जाने और मान सम्मान पर आधात करने का आरोप लगाते हुए कई सवाल खड़ा किए। बैठक काफी देर तक चलघ। जिसमें अपनी पहचान बनाने को लेकर एकजुट होकर राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलने का निर्णय लिया गया। बैठक में प्रखंड अध्यक्षों का कहना हुआ कि उन्हें पार्टी में कोई तरजीह नहीं दी जाती है। जबकि बे वफादारी से काम करते हैं। इसके बावजूद मान सम्मान नहीं मिलता और न हीं उनकी कभी खोज की जाती है। इससे वे लोग अपने आप को तौहीनी महसूस करते हैं। पिछले एमएलसी चुनाव में उन्हें तरजीह और मान सम्मान नहीं दिए जाने को लेकर भी भड़ास निकाली। बैठक में कई अंदरूनी कलह भी सामने आई। हालांकि प्रदेश स्तर से लेकर जिला स्तर तक उपस्थित पार्टी नेताओं ने उन्हें समझा कर स्थिति को सामान्य किया। बैठक पार्टी के जिला अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह की अध्यक्षता और प्रदेश संगठन सचिव शिवनाथ पासवान के संचालन में चला। इस मौके पर उपस्थित व्यवसायी प्रकोष्ठ के प्रदेश नेता पारसनाथ गुप्ता, ब्रह्मदेव राय, कामेश्वर सिंह, प्रो वायजूल हक, दिनेश पांडे, जयप्रकाश गुप्ता, मुकुल पांडे, संजू चंद्रा, राजेश सिंह, छोटे लाल गुप्ता, छात्र के प्रकाश कुमार चंदन, जिला प्रधान महासचिव अरुण कुमार गुप्ता, बलिन्द्र सिंह आदि ने कहा कि किसी भी दल और संगठन की मजबूती उसके कार्यकर्ता से होते हैं। कार्यकर्ताओं को मान सम्मान और उन्हें तरजीह मिलनी चाहिए। उनके बदौलत ही पार्टी ऊंचाइयों तक पहुंचता है। यहां पर संगठन की मजबूती और राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस के हाथ मजबूत करने को लेकर कई प्रस्ताव लिए गए। इस मौके पर ऋषि कपूर, सबल पासवान, प्रमोद पासवान, सुनील कुशवाहा, राजकुमार सिंह, धनंजय कुमार सिंह, दशरथ पासवान, रामएकवाल सिंह कुशवाहा, सतनारायण शर्मा, अरुण राय डब्लू कुमार बबलू आदि सहित विभिन्न प्रखंडों के विभिन्न प्रकोष्ठ के अध्यक्ष और अन्य कार्यकर्ता शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!