Breaking News

निर्धन परिवारों की जीविकोपार्जन योजना के तहत मिलने लगी राहत


रिपोर्ट नवीन कुमार सिंह वैशाली बिहार

सहदेई बुजुर्ग/महनार -  निर्धन परिवार के लोगों को जीविका के माध्यम से निर्धन परिवारों के जीविकोपार्जन योजना के तहत मिलने बाली राशि से राहत मिलने लगी है।शनिवार को जीविका के इस अभियान को सफल बनाने को लेकर जीविका के महनार प्रखंड परियोजना प्रबंधक गोपी कृष्ण ने चमरहरा पंचायत के विभिन्न वार्डों में सर्वेक्षण किया।गोपी कृष्ण ने दलित आदि टोले में जाकर वैसे परिवार जो तारी की व्यवसाय से अपना जीविकोपार्जन में लगे थे उनसे मिले।उन्होंने तारी की व्यवसाय छोड़ अन्य व्यवसाय से जुड़ने के लिए लोगों को प्रेरित किया।गोपी कृष्ण के प्रयास के बाद कई परिवार जो तारी के व्यवसाय से जुड़े थे उन्होंने शपथ लिया की वे तारी का व्यवसाय छोड़ अन्य व्यवसाय से जुड़ेंगे।बताया गया कि चमरहरा पंचायत के वार्ड नंबर चार में इंदु देवी पति नरेश पासवान व शोभा देवी पति अजय पासवान आदि परिवारों का चयन उक्त योजना के तहत अनुदान राशि उपलब्ध कराने के लिए किया गया है।प्रखंड परियोजना प्रबंधक ने बताया कि सतत जीविकोपार्जन योजना का लाभ पाकर अत्यंत गरीब,बेसहारा और ताड़ी का व्यवसाय छोड़ने वाले सबल होंगे।इस योजना में महिलाओं को भी रोजगारी बना उनकी आर्थिक स्थिति सुधारने पर फोकस किया जा रहा है।जीविकोपार्जन के लिए तीन किस्त में निवेश की राशि दी जाती है।अधिकतम एक लाख रुपए रोजगारी बनाने के लिए दिए जाते हैं।

प्रखंड परियोजना प्रबंधक गोपी कृष्ण ने बताया कि जिनके पास आमदनी का कोई स्त्रोत नहीं है।खाना तक नसीब नहीं हो रहा है,खेती के लिए जमीन नहीं है,रोजगार का कोई जरिया भी नहीं है।इस तरह के बेसहारा गरीबों को चिन्हित कर उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत लाभ दिया जाता है।रोजगार के लिए गरीबों को आर्थिक मदद देने के बाद उसकी मॉनिटरिंग समूह के सदस्य करते हैं।ताकि दी गई राशि का सदुपयोग हो सके।अगर कोई दुकान चला रहा है तो दुकान की बिक्री और सामान की उपलब्धता पर पूरी नजर रखी जाती है।लाभुकों को राशि चेक के माध्यम से दी जाती है,ताकि किसी तरह की गड़बड़ी होने की संभावना न रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!