Breaking News

जनता के लिए सुशासन का सपना देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देखे थे: प्रशांत किशोर


वैशाली: 
जनता के लिए सुशासन का सपना देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देखे थे। उनकी कल्पना थी देश और राज्य के विकाश के लिए सही लोग, सही सोंच और सामूहिक प्रयास। उक्त बातें जन सुराज कार्यक्रम के दौरान राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पातेपुर के राम जानकी मठ परिसर एवं डभैच्छ स्थित एक निजी विद्यालय परिसर में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम में लोगो को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बिहार के समुचित विकाश एवं राजनीतिक परिकल्पना के परिवर्तन के लिए सामूहिक प्रयास पर बल देते हुए कहा कि वे आगामी 2 अक्टूबर से बिहार की धरती चंपारण स्थित गांधी आश्रम से पदयात्रा की शुरुआत करेंगे।

 जनसंवाद के दौरान श्री किशोर ने कहा कि बिहार के युवाओ में राजनीतिक ज्ञान की कमी नही है। पदयात्रा के दौरान वे युवाओ से मिलकर एवं साथ बैठ कर बिहार की गंभीर समस्या शिक्षा की बदहाली, बेरोजगारी एवं अन्य समस्याओं को लेकर राज्य की जनता के बीच रखा जाएगा। नेता मंत्री सिर्फ वोट बैंक की राजनीति कर लोगो से लुभावने वादे कर कहते है मुझे वोट दो मैं सबकुछ ठीक कर दूंगा। ऐसा कहकर वे लोग जनता को मूर्ख बना रहे है। 


बिहार का विकाश एक आदमी के बस की बात नही है। इसके लिए सामूहिक रूप से लोगो को एक मंच पर आना होगा। इस मौके पर पातेपुर में राम जानकी मठ के मठाधीश बाबा महंथ विश्वमोहन दास जी महाराज ने प्रशांत किशोर को अंगवस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर एवं फुल माला पहनाकर स्वागत किया। वही डभैच्छ में डीपीएस की निदेशक आभा राय ने श्री किशोर को अंगवस्त्र एवं बुके देकर अभिवादन किया। साथ ही मौके पर जुटे दर्जनों समर्थकों ने श्री किशोर को फूल मालाओं से लाद दिया। जन संवाद के दौरान आभा राय, विनोद राय, अवधेश पासवान, पप्पू चौधरी, सर्वेश चौधरी, नमन चौधरी, राम प्रवेश चौधरी, लक्ष्मण राय, श्याम बाबू चौधरी, हरेंद्र राय, कैलाश पासवान, अभिनाश राय समेत सैंकड़ो लोग मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!