Breaking News

सतत जीविकोपार्जन योजना से बेसहारा गरीब होंगे सबल


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

मैनाटाड़: सतत जीविकोपार्जन योजना का लाभ पाकर अत्यंत गरीब, बेसहारा महिलायें सबल होंगीं। इस योजना में महिलाओं को रोजगारी बना उनकी आर्थिक स्थिति सुधारने पर फोकस किया जा रहा है। उक्त बातें जीविका बीपीएम राकेश चंद्र चौधरी के है।वे मैनाटाड़ पंचायत भवन में तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में जीविका दीदियों सहित अन्य को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिसके पास आमदनी का कोई स्रोत नहीं है और खाना तक नसीब नहीं हो रहा उस तरह के लोगों को चिह्नित करते स्वावलंबी (आत्मनिर्भर) बनाने के लिए सतत जीविकोपार्जन योजना का लाभ दिया जा रहा है। लाभुकों का चयन कर प्रथम किस्त की निवेश राशि भी दी जायेगी।बेसहारा महिलाएं, जो भोजन से लेकर हर कार्य के लिए दूसरों की दया पर निर्भर रहा करती थी। आज स्वरोजगार कर स्वावलंबी बन रही हैं। यह जीविकोपार्जन योजना के तहत जीविका दीदियों की पहल से संभव हुआ है। वे ऐसी महिलाओं की पहचान कर उन्हें जीविका समूह से जोड़कर स्वरोजगार का प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ रही हैं। अब उन्हें दूसरे की दया पर रहने की आवश्यकता नहीं है। अब तक दर्जनों वैसी महिलाएं स्वरोजगार से जुड़ चुकी हैं। कुछ महीनों पूर्व जो महिलाएं दूसरों के घरों में काम कर या लोगों की दया पर अपना जीवन-यापन कर रही थी, आज समृद्धि की डग भर रही हैं। वहीं प्रशिक्षक वैद्यनाथ कुमार और स्तन निषाद ने कहा कि जीविका दीदियों को प्रशिक्षण देते हुये कहा कि सतत जीविकोपार्जन योजना उन महिलाओं के लिए हैं जो दूसरों की दया पर जीवन-यापन करने को विवश हैं या अत्यंत गरीबी में किसी प्रकार अपना जीवन-यापन कर रही हैं। योजना के तहत जीविका समूह की महिलाएं पंचायत स्तर पर ऐसी महिलाओं की पहचान कर उन्हें समूह से जोड़ती हैं। उसके बाद उन्हें स्वावलंबी होने का गुर सिखाती हैं। रोजगार को लेकर प्रशिक्षण दिया जाता है। कोई श्रृंगार दुकान, तो कोई किराना दुकान ,फल दुकान चलाना है। सभी जीवित दीदियों को कहा गया है आप सभी योग्य महिलाओं का चयन कर उन्हें सतत जीविकोपार्जन योजना से आच्छादित करें। मौके पर मौके पर शीला देवी, सुखपति देवी, शांति देवी, सोनी देवी, रीना देवी, प्रभावती देवी, खुशबू नेश, सुखिया देवी, पूजा देवी, मनोरमा देवी आदि मौजूद रहीं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!