Breaking News

भगवान गौतम बुद्ध की जयंती के अवसर पर उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर जन्मोत्सव मनाया


प्रभंजन कुमार कि रिपोर्ट , हाजीपुर (वैशाली)// नगर के अम्बेडकर भवन मे अनुसूचित जाति, जनजाति कर्मचारी संघ, दलित पैंथर बिहार एवं अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के संयुक्त तत्वावधान मे बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर भगवान गौतम बुद्ध की जयंती के अवसर पर उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर जन्मोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम सभा का आयोजन किया गया की अध्यक्षता अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष अरुण कुमार पासवान ने किया जबकि संचालन अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष ललन राम ने किया। संघ की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बुध पुर्णिमा के महत्व को बताते हुए संघ के जिला अध्यक्ष अरुण कुमार पासवान ने कहा कि आज ही के दिन भगवान बुध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी तथागत बुद्ध ने विश्व को शांति का संदेश दिया था। बुध के पद चिन्हों पर चल कर ही अत्यात्म की अलख जलाया जा सकता है।सभा के दौरान भगवान बुद्ध के जीवन पर प्रकाश डालते हुए दलित पैंथर बिहार के प्रदेश महामंत्री धर्मेंद्र चौधरी ने कहा कि शांति और आनंद से जीने का नाम बौद्ध धर्म है। बुद्धम शरणम गच्छामि का मंत्र देश और समाज को एक सूत्र में जोड़ने वाला है। तथागत ने मनुष्य को ही भगवान माना है मनुष्य से बड़ा कोई भगवान नहीं है वह हर व्यक्ति के अंदर विराजमान है। बुद्ध पूर्णिमा के ही दिन भगवान बुद्ध ने जन्म लिया था और पूर्णिमा के दिन ही उन्होंने शरीर त्याग दिया था। विश्व को शांति का संदेश देने वाले महान आत्मा भगवान बुद्ध को कोटि-कोटि नमन। इस अवसर परहाजीपुर नगर के अम्बेडकर भवन मे अनुसूचित जाति, जनजाति कर्मचारी संघ, दलित पैंथर बिहार एवं अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के संयुक्त तत्वावधान मे बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर भगवान गौतम बुद्ध की जयंती के अवसर पर उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर जन्मोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम सभा का आयोजन किया गया की अध्यक्षता अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष ललन राम ने किया। संघ की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बुद्द पुर्णिमा के महत्व को बताते हुए दलित पैंथर के राज्य संरक्षक महेंद्र पासवान ने कहा कि आज ही के दिन भगवान बुद्द को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी तथागत बुद्ध ने विश्व को शांति का संदेश दिया था। बुद्ध के पद चिन्हों पर चल कर ही अत्यात्म की अलख जलाया जा सकता है।सभा के दौरान भगवान बुद्ध के जीवन पर प्रकाश डालते हुए दलित पैंथर बिहार के प्रदेश अध्यक्ष ललन राम ने कहा कि शांति और आनंद से जीने का नाम बौद्ध धर्म है। बुद्धम शरणम गच्छामि का मंत्र देश और समाज को एक सूत्र में जोड़ने वाला है। तथागत ने मनुष्य को ही भगवान माना है मनुष्य से बड़ा कोई भगवान नहीं है वह हर व्यक्ति के अंदर विराजमान है। बुद्ध पूर्णिमा के ही दिन भगवान बुद्ध ने जन्म लिया था और पूर्णिमा के दिन ही उन्होंने शरीर त्याग दिया था। विश्व को शांति का संदेश देने वाले महान आत्मा भगवान बुद्ध को कोटि-कोटि नमन। इस अवसर पर अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के प्रदेश सचिव अरुण कुमार राम, राजीव कुमार रावत, दलित पैंथर बिहार के प्रदेश सचिव राम पुकार चौधरी,अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी संघ के जिला सचिव कमलेश पासवान, कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि सुनील कुमार सिंह, सुजीत कुमार राम, रितेश कुमार, गोपी कुमार ,गौतम राम,सुधीर राम,सागर सत्यदेव, सनी कुमार आदि अनेकों लोगों ने कार्यक्रम में भाग लिया तथा बुद्ध भगवान के बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!