Breaking News

हाट,बाजार,बड़े चौराहे एवं जिला के इन्ट्री प्वाइन्ट पर ब्रेथ एनलाइजर से सघन जाँच करायी जाय - अपर मुख्य सचिव



रिपोर्ट प्रभंजन कुमार , हाजीपुर /// अपर मुख्य सचिव,मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग बिहार सरकार श्री के.के.पाठक के द्वारा आयुक्त तिरहुत प्रमंडल  मनीष कुमार,जिलाधिकारी वैशाली  यशपाल मीणा एवं पुलिस अधीक्षक वैशाली मनीष की उपस्थिति में वैशाली समाहरणालय सभागार में मद्य निषेध को प्रभावी बनाने के लिए मद्य निषेध विभाग एवं पुलिस विभाग के द्वारा किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा की गयी एवं निदेश दिया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों के हाट-बाजार से लेकर बड़े चौक-चौराहों सहित जिला के इन्ट्री प्वाइन्ट पर ब्रेथ एनलाइजर के माध्यम से सघन जाँच करायी जाय।इसके लिए अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में संयुक्त टीम बनायी जाय एवं सभी चिन्हित संवेदनशील (वलनरेबल) टोलो के आस - पास भी इसका नियमित प्रयोग किया जाय।समीक्षा के क्रम पाया गया कि ड्रोन के उपयोग के बाद ग्रामीण क्षेत्रों सहित दियारा इलाकों में देशी शराब अथवा चुलाई वाला शराब में काफी कमी आयी है परन्तु बड़ी मात्रा में विदेशी शराब का मिलना अभी भी समस्या बनी हुयी है।उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि यहाँ इसके सेवन करने वाले लोग हैं।उन्हें निश्चित रूप से पकड़ना होगा।इसके लिए अभियान चलाया जाय। नयी नियमावली में पहली बार पकड़ में आये पीने वालों को 2 हजार से 5 हजार तक का अर्थिक दण्ड लगाकर छोड़ने का प्रावधान किया गया है बशर्ते कि उनके द्वारा अपनी पहचान एवं मोबाइल नम्बर सही - सही बताया जाय अगर उनके द्वारा शराब पीने के बाद हंगामा,मारपीट,छेड़खानी,हुड़दंग जैसा कृत्य किया गया हो तो उन्हें जेल में डालने की कार्रवाई करें।अपर सचिव ने स्पष्ट कहा कि इन पीने वालों के सहारे पिलाने वालों तक पहुँचने अर्थात आपूर्तिकर्त्ता तक पहुँचने का प्रयास किया जाय।पीने और पीलाने वालों का चेन तोड़ना ही होगा तभी सफलता मिलेगी।अपर सचिव ने कहा कि जो बड़े मामले हैं उसको स्वयं पुलिस अधीक्षक भी देखें।इस अवसर पर प्रमंडलीय आयुक्त ने कहा कि शादी समारोह या अन्य समारोहों के दौरान हर्ष फायरिंग से संबंधित वायरल विडियो की जाँच करायी

जाय एवं मामलों की जाँच कर समुचित कार्रवाई की जाय। यहाँ पर यह भी देखा जाय कि इस दौरान शराब का सेवन या शराब की पार्टी भी की गयी है या नही।इस अवसर पर अपर सचिव के द्वारा पावर प्वाइंट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से माहवार रेड,गिरफ्तारी शराब की जब्ती,वाहनों की जब्ती,शराब का विनष्टीकरण,जब्त वाहनों की निलामी,संवेदनशील जगहो पर रेड,दर्ज मामलों में अनुसंधान की स्थिति तथा ट्रायल की समीक्षा की गयी।माहवार रेड की समीक्षा में पाया गया कि मद्य निषेध विभाग के द्वारा मई माह में अभी तक 380 एवं पुलिस विभाग के द्वारा 208 सहित कुल 596 रेड किया गया है। जिसमें मद्य निषेध विभाग के द्वारा 40 एवं पुलिस के द्वारा 148 सहित कुल 188 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कुल 2749 लीटर देशी तथा 28832 लीटर विदेशी शराब जब्त किया गया है।मई माह में अभी तक 14 गाड़ियाँ पकड़ी गयी है।मद्य निषेध विभाग के द्वारा मई माह में 15 मई तक कुल 1125 लोगों का ब्रेथ एनलाइजर से जाँच किया गया है जिसमें 20 लोग पॉजीटिव पाये गये जबकि 15 मई तक पुलिस विभाग के द्वारा 64 लोगों की जा में 44 लोग पॉजीटिव पाये गये है।पीने वालों की निशानदेही पर जिला में 1 अप्रैल 2022 से 15 मई 2022 तक कुल 161 लोगों को गिरफ्तार किया गया था जिसमें 125 लोगों को पेनाल्टी पर रिहा किया गया और 36 लोगों को जेल भेजा गया। जब्त शराब के बिनष्टीकरण के संबंध में बताया गया कि 53898 लीटर शराब का विनष्टीकरण किया जाना है जिसके लिए जिलाधिकारी के स्तर से आदेश निर्गत है। इस अवसर पर अपर समाहर्त्ता सहित वैशाली जिला के सभी एसडीओ,एसडीपीओ,मद्य निषेध विभाग के अधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!