Breaking News

नौ दिवसीय श्री महारूद्र यज्ञ एवं राधा कृष्ण मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा सह शिवलिंग स्थापना समारोह का उद्घाटन


रिपोर्ट नवीन कुमार सिंह वैशाली बिहार

सहदेई बुजुर्ग/महनार - महनार प्रखंड की लावापुर महनार पंचायत स्थित पंचरूखी महुआतर के निकट आयोजित नौ दिवसीय श्री महारूद्र यज्ञ एवं राधा कृष्ण मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा सह शिवलिंग स्थापना समारोह का उद्घाटन लोजपा (रा) के प्रदेश उपाध्यक्ष इंजीनियर रविंद्र सिंह ने किया।इस मौके पर इं रविंद्र ने कहा कि यज्ञ की परम्परा हमारी बहुत ही प्राचीन पहचान है।यज्ञ करने से न केवल वहां का,बल्कि आसपास का वातावरण शुद्ध हो जाता है।उसमें बैठने वाले लोगों के विचार भी अच्छे होते हैं।इसलिए अपने घर में यज्ञ जरूर करें।उन्होंने कहा कि आज इंसान अपनी परम्पराओं को छोड़कर पैसे में सब कुछ ढूंढ रहा है।जोकि एकदम गलत है।पैसे से आप चीजें खरीद सकते हो लेकिन मन की शांति नहीं।मन को शांति परमात्मा के चरणों में ही मिलती है।भगवान के भजन के बगैर कोई चीज मुमकिन नहीं है।इंसान को जीवन में सुबह शाम भगवान का भजन करना चाहिए।इससे न केवल आत्मा स्वच्छ होती है।बल्कि इंसान के विचार भी बदल जाते है।उन्होंने कहा कि भक्ति में बहुत शक्ति होती है।अगर इंसान सच्चे मन से भक्ति करे तो जीवन में हर चीज को पा सकता है।महायज्ञ के पहले दिन गणमान्य व्यक्तियों,महिलाओं आदि द्वारा गाजे बाजे के साथ भव्य कलश यात्रा निकाली गयी।कलश यात्रा में सैंकड़ों कन्याओं सहित बड़ी संख्या में महिला,पुरुष श्रद्धालु कलश लेकर शामिल हुए।कलश यात्रा यज्ञ मंडप की परिक्रमा कर नदी के तट पर पहुंची।यहां विधिवत पूजा अर्चना कर बारी-बारी से कलशों में जल भरा गया।उसके बाद पुन: यज्ञ मंडप पर पहुंची।जहां विद्वान पंडितों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कलश स्थापना की गयी।इस दौरान कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं के हर-हर महादेव और जय माता दी,जय श्री राम के जयघोष से वातावरण भक्तिमय हो गया।यज्ञ समिति के सदस्यों ने बताया कि नौ दिवसीय यज्ञ का समापन आगामी 10 मई को होगा।यज्ञ के दौरान श्रीमद्भागवत कथा एवं प्रवचन होगा।इस मौके पर मर्यादा पुरूषोत्तम की लीलाओं पर आधारित रामलीला का भी आयोजन वृंदावन के प्रसिद्ध कलाकार करेंगे।यज्ञ मंडल के आसपास कई देवी देवताओं की भव्य मूर्तियों की स्थापना किया गया है।श्रद्धालुओं के लिए भंडारा का भी आयोजन किया गया है।भंडारा यज्ञ प्रारंभ होने के साथ ही शुरू होगा,जो समापन तक लगातार जारी रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!