Breaking News

पति की लंबी उम्र के वट सावित्री व्रत के दौरान बरगद के वृक्ष को महिलाओं ने की पूजा


सीतामढ़ी:
बैरगनिया नगर के शिवालय मंदिर रोड से पटेल टोला रोड, हनुमान मंदिर के पास सभी महिलाएं वट सावित्री व्रत के दौरान बरगद के वृक्ष की करें पूजा पति के लम्बी आयु के लिए। इस दिन सुहागिन महिलाएं वट वृक्ष की पूजा करती है।

मान्यता है कि इस दिन विधिवत पूजा अर्चना करने से अखण्ड सौभाग्य का फल मिलता है इसके साथ ही पति की लंबी आयु प्राप्त होती है।

बरगद के वृक्ष का धार्मिक महत्व।

हिन्दू धर्म में वट वृक्ष पूजा और परिक्रमा का विधान होता है इसकी पूजा का भी कई वजहें है।

आध्यात्मिक दृष्टि से देखे तो वट वृक्ष दीघायू और अमरत्व का बोध के नाते स्वीकार किया जाता है। माना जाता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा,तने में भगवान विष्णु एवं डालियों में शिवशंकर निवास होता हैं इसके अलावा इस पेड़ पर बहुत सारे शाखाएं है नीचे के तरफ लटकी हुई होती है जिन्हें देवी सावित्री का रूप माना जाता है। 

यही वजह है कि इस वृक्ष की पूजा से सभी मनोकामनाएं जल्दी पूरी हो जाती है अग्नि पुराण के अनुसार बरगद उत्सजर्न को दर्शाता है इसलिए संतान प्राप्ति के लिए भी महिलाएं वट वृक्ष की पूजा करती है ।माना जाता है कि वट वृक्ष की छाव में जेष्ठ माह की अमावस्या तिथि के दिन देवी सावित्री ने अपने पति को पुनः जीवित किया था। तभी से वट वृक्ष की पूजा की जाती है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!