Breaking News

स्वास्थ्य और आईसीडीएस के कर्मी क्षेत्र में समन्वय बनाकर कार्य करें-जिलाधिकारी





रिपोर्ट प्रभंजन कुमार // हाजीपुर:- जिलाधिकारी यशपाल मीणा की अध्यक्षता में वैशाली समाहरणालय सभागार में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षात्मक बैठक सम्पन्न हुयी जिसमें सिविल सर्जन सहित सभी चिकित्सा पदाधिकारी एवं डीपीओ आईसीडीएस सहित सभी सीडीपीओ उपस्थित थी।सर्वप्रथम पावर प्वांट प्रेजेंटेशन के माध्यम रूटीन इम्यूनाईजेशन के बारे में बताया गया।रूटीन इम्यूनाईजेशन में देसरी और हाजीपुर शहरी अंचल में शत प्रतिशत उपलब्धि पायी गयी वहीं पातेपुर और बिदुपुर में उपलब्धि निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप नहीं पायी गयी। जिलाधिकारी के द्वारा कहा गया कि स्वास्थ्य विभाग के साथ यह पहली बैठक है। अगले माह होने वाली बैठक से पहले सामान्य तौर पर चल रही सभी कार्यों में निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाय।इस बैठक में जिलाधिकारी ने प्राथमिकता निर्धारित कर दी और निदेश दिया कि अगले एक माह में सभी जगह आरसीएच पंजी को अद्यतन करा दिया जाय।सर्वे और ड्यू लिस्ट को अपडेट किया जाय। सभी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी प्रतिदिन समीक्षा करें और बैठक की कार्यवाही निकाले।एएनएम से बात करें और जो सहयोग नहीं करें उन्हें चिन्हित करें।हर छोटी - छोटी चीजों का ध्यान रखें। सभी स्टॉफ को मोरल सर्पोट कर उनकी कार्यक्षमता को बढ़ावा दें।प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी बीएचएम , एकाउण्टेन्ट और डाटाइन्ट्री ऑपरेटर पर नजर रखें और सभी डेटा को सिस्टम में ससमय अपलोड करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर किसी का भुगतान लम्बित हैं तो एक सप्ताह में इसे क्लीयर करें।प्रखंड स्तर पर टीम वर्क जरूरी है।आशा और आंगनवाड़ी सेविका/ सहायिका के लिए जो कार्य निर्धारित है वे लोग इन कार्यों को एक साथ भ्रमण कर करें। इस पर सप्ताह में तीन दिन सीडीपीओ और एमओआइसी के संयुक्त हस्ताक्षकर युक्त प्रतिवेदन उपलब्ध कराना होगा।जिलाधिकारी ने कहा कि सभी पीएचसी परिसर को स्वच्छ रखा जाय तथा जहा-जहाँ चाहरदिवारी नहीं है उसकी सूची उपलब्ध करा दी जाय ताकि इसके निर्माण की कार्रवाई की जा सके। पीएचसी या अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों पर अगर कबाड़ है तो नियमानुसार कार्रवाई कर उसे हटा दिया जाय।सभी स्वास्थ्य केन्द्र पर चिकित्सकों का रोस्टर डयुटी चार्ट सूचना पट्ट पर लगायी जाय।सुरक्षा ऐजेन्सियों के द्वारा उपलब्ध कराये गये सुरक्षा कर्मियों को पहचान पत्र दे दिया जाय और समय-समय पर उनकी उपस्थिति की जाँच की जाय। सभी पीएचसी के लिए समानुपातिक रूप से एम्बुलेंस आवंटित किया जाय एवं उसका लॉगबुक अतन रखा जाय।जिलाधिकारी ने जिला में चमकी बुखार (एईएस/जेई) की जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि अभी तक इसके तीन मामले प्रतिवेदित हैं जो हाजीपुर सदर,लालगंज एवं पातेपुर अंचल में मिले हैं। बैठक में ही जिलाधिकारी को बताया गया कि वेस्ट प्रेक्टिसेज के तहत टेलिकन्सल्टेशन में देसरी में 2294,सहदेई बुजुर्ग में 1894 एवं पटेढी बेल्सर में 736 लोगों को चिकत्सकीय परामर्श दिया गया है।इस पर जिलाधिकारी के द्वारा संबंधित चिकित्सकों को प्रशस्ति पत्र के साथ सम्मानित करने की बात कही गयी और सिविल सर्जन इन्हें तुरंत सम्मानित करने का निदेश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि धरातल पर जो भी कर्मी अच्छा कार्य करें उन्हें चिन्हित कर सम्मानित किया जाय।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!